Thursday, October 17th, 2019

लोकतंत्र और विपक्ष को खत्म कर रही बीजेपी: कांग्रेस नेता आजाद

नई दिल्ली
कर्नाटक में चल रहा सियासी ड्रामा अभी तक थमा नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने सभी बागी विधायकों को गुरुवार शाम 6 बजे तक विधानसभा स्पीकर के सामने पेश होने को कहा है. वहीं, स्पीकर रमेश कुमार ने इस समय को बढ़ाने की मांग की है, लेकिन वो मंजूर नहीं हुई है. ऐसे में अब स्पीकर विधायकों का इस्तीफा स्वीकारते हैं या नहीं, इस पर हर किसी की नज़र है.

लोकतंत्र और विपक्ष खत्म कर रही बीजेपीः गुलाम नबी आजाद
गुलाम नबी आजाद ने कहा, 'मैं यहां पिछले तीन दिन से हूं. हमने कर्नाटक कांग्रेस और जेडीएस के सभी सीनियर नेताओं से बातचीत की. जबसे केंद्र की सत्ता पर बीजेपी आई है, तबसे वह राज्यों की एक के बाद एक कांग्रेस सरकार को गिरा रही है. बीजेपी लोकतंत्र और विपक्ष को खत्म कर रही है. विधायकों को किसी से मिलने की इजाजत नहीं दी जा रही है. इसके चलते कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट भी गए. बीजेपी यहां से कांग्रेस नेताओं को लेकर गई. इसके लिए उसने महाराष्ट्र पुलिस का इस्तेमाल किया.' गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह मामला विधानसभा के क्षेत्राधिकार में आता है और इस पर आखिरी फैसला लेने का अधिकार विधानसभा अध्यक्ष को है. इससे पहले भी ऐसे कई मामलों में कोर्ट ने कोई कार्रवाई नहीं की.
स्पीकर से मिलना चाहते हैं बीजेपी विधायक, पुलिस बोली- दरवाजा बंद है
कर्नाटक के बीजेपी विधायक विधानसभा स्पीकर से मुलाकात करना चाहते हैं, लेकिन पुलिस का कहना है कि दरवाजा बंद है. अब वो जा नहीं सकते हैं.
बागी विधायकों को अयोग्य घोषित करने के लिए याचिका दाखिल
जेडीएस ने अपने तीन बागी विधायकों को अयोग्य घोषित करने की मांग करते हुए याचिका दाखिल की. जिन तीन बागी विधायकों के खिलाफ याचिका दाखिल की गई है, उनमें नारायण गौड़ा, गोपाल और विश्वनाथ शामिल हैं.
स्पीकर पक्षपातपूर्ण तरीके से कर रहे कामः मुकुल रोहतगी
भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर पक्षपातपूर्ण तरीके से काम कर रहे हैं. स्पीकर के पास कोर्ट की अथॉरिटी को चुनौती देने का अधिकार नहीं है. अगर विधायक अपना इस्तीफा देना चाहते हैं, तो आगे कुछ नहीं बचता है. कोर्ट ने सिर्फ विधायकों को सुनने के लिए स्पीकर से कहा है.  
 

Source : Agency

आपकी राय

8 + 3 =

पाठको की राय