Monday, July 22nd, 2019

ड्रमस्टिक के फायदे जान लेंगे तो रोजाना खाएंगे


दक्षिण भारत में ड्रमस्टिक यानी सहजन की फली का भरपूर प्रयोग किया जाता है। सहजन की फली मुख्य रूप से सांबर के रूप में खायी जाती है, लेकिन इसे आप अन्य तरीकों से बनाकर भी खा सकते हैं। सहजन की फली अब सिर्फ देश के दक्षिण हिस्से तक ही नहीं बल्कि देशभर में चाव से खायी जाती है। लेकिन इसके फायदों के बारे में जान लेंगे तो आप इसे रोजाना ही अपनी डायट में शामिल कर लेंगे।

हड्डियों और दांतों को बनाए मजबूत
ड्रमस्टिक यानी सहजन की फली में प्रोटीन, अमीनो ऐसिड, बीटा कैरोटिन और फीनॉलिक होते हैं। इसमें कैल्शियम की मात्रा भी काफी होती है जिसकी वजह से हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इस लिहाज से यह गर्भवती महिलाओं के लिए भी फायदेमंद है।

मोटापा और चर्बी करे कम
सहजन की फली मोटापा और शरीर की बढ़ी हुई चर्बी को दूर करने में लाभदायक औषधि माना गया है। इसमें फॉस्फोरस होता है जोकि शरीर की अतिरिक्त कैलरी को कम करता है और साथ ही वसा को कम कर मोटापा कम करने में भी सहायक होता है।


बांझपन करे दूर, स्पर्म की संख्या बढ़ाए
सहजन में जिंक प्रचुर मात्रा में होता है और यह महिलाओं में बांझपन की समस्या को दूर करने में मदद करता है। साथ ही यह पुरुषों में स्पर्म के प्रॉडक्शन में मदद करता है।

सिरदर्द दूर करे
सहजन के पत्तों का पेस्ट घाव पर लगाया जाता है और इसे सब्जी के रूप में खाने से सिर दर्द में राहत मिलती है। साथ ही सहजन के सेवन से खून साफ होता है, आंखों की रोशनी तेज होती है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

6 + 12 =

पाठको की राय