Tuesday, December 10th, 2019

पोर्न वीडियो में पूर्व मंत्री मूणत का चेहरा लगाने वाला फिल्मकार गिरफ्तार

रायपुर
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पूर्व मंत्री राजेश मूणत के फर्जी अश्लील सीडी मामले में फिल्मकार मानस साहू को पुलिस ने ओडिशा के कटक से गिरफ्तार कर लिया है. ये वही फिल्मकार मानस साहू है, जिसने वेबसाइट से निकाले गए पोर्न वीडियो में मूणत का चेहरा लगाया था. बता दें कि गिरफ्तार करने के बाद मानस को देर शाम रायपुर लाया गया है, जहां टीम उससे पूछताछ कर रही है.

दरअसल, सीबीआई ने सालभर पहले खुलासा किया था कि मानस ही वह व्यक्ति है, जिसने अश्लील वीडियो को एडिट कर पूर्व मंत्री मूणत का चेहरा लगाया था. इसके बाद इसने ऐसी कई सीडी तैयार कर ली थी. सीबीआई ने सीडी कांड में मानस को सरकारी गवाह बना लिया है. सीबीआई की सूची में उसका नाम 61वां स्थान पर है.

सिविल लाइंस पुलिस के मुताबिक कटक का रहने वाला मानस साहू अभी मुंबई के कांदिवली वेस्ट में रहता है. वहां इसका स्टूडियो है, जहां वो फिल्मों की एडिटिंग करता है. इस मामले का एक और आरोपी विजय पांड्या भी वहीं आता-जाता रहता है. पुलिस ने बताया कि विजय के ही माध्यम से रिंकू खनूजा की मुलाकात मानस से हुई थी. पुलिस के अनुसार मानस ने टेंपर कर जिस सीडी की कॉपियां रिंकू को दी थीं, उसके पूरे पैसे नहीं मिले थे. इसलिए वह रिंकू को बार-बार कॉल कर रहा था. साथ ही दबाव भी बना रहा था कि सीबीआई के पूछताछ में उसका नाम न बताए. पुलिस को रिंकू के कॉल डिटेल में मानस का नंबर मिला, लेकिन ज्यादा बातचीत दिखाई नहीं दी. दोनों के बीच इंटरनेट कॉलिंग में बातचीत होती थी.

सीबीआई द्वारा कोर्ट में पेश की केस की चार्जशीट के मुताबिक कारोबारी कैलाश मुरारका, रिंकू और विजय, तीनों सीडी टेंपर करवाने के लिए मुंबई गए थे. इस दौरान तीनों एक होटल में ठहरे थे. वहां से तीनों मानस के स्टूडियो पहुंचे, जहां बैठकर उन्होंने सीडी बनाई. इसके लिए मानस को मोटी रकम देने का झांसा दिया गया था. सूत्रों के मुताबिक मानस को पैसा नहीं मिला था, इसलिए वह रिंकू को कॉल कर रहा था.

पुलिस मानस साहू का भी नार्को टेस्ट करा सकती है, क्योंकि प्रारंभिक पूछताछ में उससे कोई महत्वपूर्ण जानकारी नहीं मिल पाई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मानस पूछताछ में सिर्फ सीडी टेंपरिंग की बात मान ली है. वहीं, बाकी बातों के बारे में यही कह रहा है कि उसे कोई जानकारी नहीं है. इसलिए पुलिस कोर्ट से नार्को टेस्ट की अनुमति मांगने की तैयारी कर रही है.

पुलिस कारोबारी कैलाश मुरारका और विजय पांड्या की तलाश में जुट गई है. दोनों घर से गायब हैं और तो और उनका मोबाइल भी बंद आ रहा है. वहीं जानकारी के मुताबिक पुलिस को एक और नामचीन व्यक्ति का ऑडियो मिला है. ऑडियो में व्यक्ति ने किसी सौदे की बात की है. इसे सीडी कांड से जोड़कर देखा जा रहा है.

गौरतलब हो कि रिंकू खनूजा खुदकुशी मामले में पुलिस सीडी कांड के सरकारी गवाहों को पूछताछ के लिए तलब कर रही है. मंगलवार दोपहर पुलिस ने पूर्व सीएम डाॅ. रमन सिंह के ओएसडी अरुण बिसने को भी पूछताछ के लिए बुलाया था. बता दें कि डीएसपी अभिषेक महेश्वरी, त्रिलोक बंसल और इंस्पेक्टर मोहसिन खान ने बिसेन से 2 घंटे तक पूछताछ करने के बाद उन्हें छोड़ दिया.

Source : Agency

आपकी राय

3 + 8 =

पाठको की राय