Saturday, December 7th, 2019

सिर पर टोकरी है या रस्सी, समझ नहीं पाएंगे आप! सुर्खियों में है ये शख्स

मुंंगेर
यूं तो लोगों को कई शौक पालते और उसको पूरा करते आपने देखा और सुना होगा। ऐसे में कई लोग अजीबोगरीब शौक पालने को लेकर भी चर्चित हो जाते हैं। ऐसे ही अजीबोगरीब शौक पालने वालों में बिहार में मुंगेर जिले के रहने वाले 63 वर्षीय सकल देव टुड्डू शुमार हैं, जो इन दिनों अपने सिर पर जटा (लंबे बाल) रखने का अजीबोगरीब शौक से चर्चा में हैं।

टुड्डू का दावा है कि उन्होंने करीब 40 साल से अपने सिर के बाल नहीं कटवाए हैं और इसे धोया भी नहीं है।

हैरानी की बात है कि टूड्डू के कद से भी ज्यादा उनके बाल की लंबाई है। इनकी जटा तकरीबन सात फीट तीन इंच लंबी है, अगर वे अपनी जटाएं खोल लें तो वे मुश्किल से चल पाते हैं। यही कारण है कि वे अपनी जटाओं को गूंथ कर रखते हैं।

टुड्डू के बाल बढ़ाने के उनके शौक को देखते हुए लोग उन्हें महात्मा समझने लगे हैं। धार्मिक प्रवृत्ति के ट्ड्डू भी इसे ईश्वर की देन कहते हैं। वे हालांकि ये भी कहते हैं कि उन्हें बचपन से ही लंबे बाल रखने का शौक रहा है।

मुंगेर के टंगड़ा गांव निवासी ट्डडू ने बताया, ‘‘40 वर्ष पहले एक दिन मेरे सपने में भगवान आए और आदेश देते हुए कहा कि अपने बालों को कभी भी कटवाना मत और न ही बालों को कभी धोना। इसके बाद से ही हम इसे भगवान से मिला आशीर्वाद मान कर अपने बालों को सहेज कर रखने लगे हैं।’’

31 वर्षों तक वन विभाग में संविदा के रूप में कार्य कर चुके टुड्डू को गांव और आसपास के लोग ‘जटावाले बाबा’ या ‘महात्मा’ कहकर बुलाते हैं।

उन्होंने बताया, ‘‘करीब 40 साल की उम्र से अब तक मैंने अपने बाल नहीं कटवाए हैं और न ही उन्होंने उसे धोया है, जिसके बाद उनके बालों में अपने आप ही जटा बन गई। अब यही जटा उनकी पहचान बन गई हैं।’’

Source : Agency

आपकी राय

5 + 3 =

पाठको की राय