Friday, August 23rd, 2019

कांग्रेस को आज मिलेगा अध्यक्ष, प्रियंका समेत इनके नाम चर्चा में

नई दिल्ली
लोकसभा चुनाव के बाद से ही बिना अध्यक्ष के चल रही कांग्रेस पार्टी को बहुत मुमकिन है कि आज नया अध्यक्ष मिल जाएगा। 25 मई को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले राहुल गांधी कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि नया अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होगा, प्रियंका गांधी वाड्रा भी नहीं। हालांकि, कांग्रेस के तमाम नेता खुलकर प्रियंका के नाम की वकालत कर चुके हैं। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक जारी है और अध्यक्ष पद के लिए तमाम नेताओं के नाम चर्चा में हैं। आइए बताते हैं उन संभावित नामों को जिन्हें मिल सकती है कांग्रेस की कमान और क्या है उन नेताओं की खासियत।

प्रियंका गांधी वाड्रा
शशि थरूर, कैप्टन अमरिंदर सिंह, कर्ण सिंह जैसे कांग्रेसी दिग्गजों ने प्रियंका गांधी वाड्रा को अध्यक्ष बनाने की पुरजोर मांग कर चुके हैं। थरूर ने जहां प्रियंका को करिश्माई नेता बताया है, वहीं कर्ण सिंह ने उन्हें ऐसी शख्सियत करार दिया है जो बतौर अध्यक्ष कांग्रेस को एक सूत्र में बांधकर रख सकती हैं। किसी युवा को पार्टी की कमान सौंपने की मांग करने वाले अमरिंदर सिंह ने बाद में प्रियंका को सबसे अच्छा विकल्प बताया। प्रियंका गांधी वाड्रा राहुल गांधी की बहन हैं। उन्होंने बतौर कांग्रेस महासचिव इसी साल पॉलिटिक्स में एंट्री ली है। सोनभद्र नरसंहार मामले में वह हाल ही में योगी सरकार के खिलाफ आक्रामक तेवरों की वजह से चर्चा में थीं और पार्टी के भीतर उनकी तुलना दादी इंदिरा गांधी से की जाने लगी थी। हालांकि, कांग्रेस के पूर्वी यूपी प्रभारी के तौर पर उनका प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा और लोकसभा चुनाव में वह अपने प्रभार वाले क्षेत्रों में पार्टी का खाता तक नहीं खुलवा पाईं। उनकी मां सोनिया गांधी 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश से जीतने वाली कांग्रेस की इकलौती सांसद रहीं। इसके अलावा पति रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और जमीन घोटाले के आरोप भी प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है।


मुकुल वासनिक
पिछले एक-दो दिनों से मुकुल वासनिक का नाम कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए तेजी से चर्चा में आया है। महाराष्ट्र से आने वाले वासनिक की गिनती कांग्रेस के बड़े दलित चेहरों में होती है। वह 4 बार सांसद रह चुके हैं। 59 साल के वासनिक यूपीए सरकार के दौरान केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं। वह काफी लो प्रोफाइल रहते हैं और चुपचाप काम करने में यकीन रखने वाले नेता हैं। छात्र जीवन में ही NSUI से सियासत की शुरुआत करने वाले वासनिक पहली बार 1984 में सांसद चुने गए थे और उस वक्त सबसे युवा सांसद थे। उनके पिता बालकृष्ण वासनिक भी अपने दौर में महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे थे।

मल्लिकार्जुन खड़गे
77 साल के मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम भी कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में चल रहा है। खड़गे कांग्रेस के दिग्गज दलित चेहरे हैं। कर्नाटक से आने वाले खड़गे कांग्रेस शासन के दौरान बड़े पदों पर रहे हैं। वह रेल और श्रम मंत्रालय की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। उनके नाम लगातार 10 बार विधानसभा चुनाव जीतने का भी रेकॉर्ड है। पिछली लोकसभा में वह सदन में कांग्रेस के नेता थे और पार्टी की आवाज को दमदार तरीके से उठाया करते थे। इस बार वह गुलबर्ग सीट से लोकसभा का चुनाव नहीं जीत पाए।

सुशील कुमार शिंदे
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और केंद्र में गृह मंत्री रह चुके 78 साल के सुशील कुमार शिंदे भी कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में शामिल हैं। वह महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री बनने वाले पहले दलित थे। 2004 में वह आंध्र प्रदेश के राज्यपाल भी नियुक्त किए गए थे लेकिन उसके बाद फिर उन्होंने न सिर्फ सक्रिय राजनीति में एंट्री ली बल्कि देश के गृह मंत्री भी बने। शिंदे कभी महाराष्ट्र पुलिस में एसआई थे लेकिन शरद पवार के कहने पर वह राजनीति में आए।

सिंधिया और पायलट
कांग्रेस के युवा चेहरों में शुमार ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट को भी अगले कांग्रेस अध्यक्ष की रेस में माना जा रहा है। कुछ दिन पहले ही मिलिंद देवड़ा ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए इन दोनों ही नेताओं के नाम की वकालत की थी। दोनों ही युवा हैं और राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं। इस बार दोनों ही नेता लोकसभा का चुनाव हार गए थे। सिंधिया और पायलट दोनों ही 2018 में क्रमशः मध्य प्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के तगड़े दावेदार थे। दोनों के पिता भी अपने जमाने में कांग्रेस के दिग्गज नेता थे और राजीव गांधी के काफी करीबी थे।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

8 + 8 =

पाठको की राय