Thursday, September 19th, 2019

भूटान जैसा पड़ोसी होना सौभाग्य की बात: मोदी

थिंपू
अपने दो दिवसीय दौरे पर भूटान पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसा पड़ोसी कौन नहीं चाहेगा जहां विकास आंकड़ों से नहीं बल्कि हैपिनेस से आंका जाता हो। पीएम मोदी शनिवार सुबह भूटान पहुंचे जिस दौरान नई दिल्ली और थिंपू के बीच हाइड्रो पावर और शिक्षा सहित पांच क्षेत्रों से जुड़े एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया। वहीं, भूटान के पीएम डॉ. लोटे शेरिंग ने कहा कि मैं आज इस गर्व के अहसास से खुश हूं कि दोनों देश मित्रता की सच्ची परिभाषा पर खरे उतर रहे हैं। उन्होंने पीएम मोदी के भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य का संदर्भ लेते हुए कहा कि मुझे उम्मीद है कि हमारा हाइड्रो पावर भारत के इस सपने को पूरा करने में सहयोग करेगा।

पीएम मोदी और उनके समकक्ष शेरिंग ने सिमतोखा जॉन्ग में भारत के नैशनल नॉलेज नेटवर्क और भूटान के ड्रुक रिसर्च ऐंड फाउंडेशन नेटवर्क के बीच इंटरकनेक्शन का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। उद्घाटन के बाद दोनों ने संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया। मीडिया से मुखातिब होते हुए शेरिंग ने कहा, 'भारत और भूटान भले ही साइज के मामले में अलग-अलग हैं लेकिन दोनों का विश्वास, मूल्य और प्रेरणा एक जैसे हैं। आज, मैं इस गर्व के अहसास से ही प्रसन्न हूं कि कैसे दोनों देश सच्ची मित्रता की परिभाषा को जी रहे हैं।'

शेरिंग ने कहा, '2014 में भूटान की पहली यात्रा पर जब पीएम मोदी आए थे, मुझे याद है कि उन्होंने कहा था कि भूटान और भारत सिर्फ सीमा के कारण करीब नहीं है, बल्कि हमने दिल एक-दूसरे के लिए खोले हैं। आपका यह दौरा यह साबित करता है कि आपकी इस बात में कितनी सच्चाई है।'

पीएम मोदी अब द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं पर भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक से मुलाकात करेंगे और रविवार को प्रतिष्ठित रॉयल यूनिवर्सिटी ऑफ भूटान में स्टूडेंट्स को भी संबोधित करेंगे।

इससे पहले शनिवार सुबह पारो इंटरनैशनल एयरपोर्ट पहुंचे पीएम मोदी का भव्य तरीके से स्वागत किया गया। खुद पीएम शेरिंग ने एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी की। उन्हें एयरपोर्ट पर ही गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद पीएम मोदी का काफिला जिस रास्ते से होकर गुजरा, भूटान के लोगों ने दोनों देशों के झंडे लेकर पारंपरिक अंदाज में उनका वेलकम किया।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

9 + 8 =

पाठको की राय