Monday, October 14th, 2019

राजीव कुमार की गिरफ्तारी को कोर्ट पहुंची CBI

कोलकाता
सीबीआई और कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के बीच आंखमिचौली खत्म नहीं हो रही है। केंद्रीय जांच एजेंसी अब राजीव के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी करने के लिए कोर्ट गई है। बता दें कि कलकत्ता हाई कोर्ट ने पिछले हफ्ते शुक्रवार को राजीव कुमार की गिरफ्तारी पर लगी रोक हटाई थी। इसके बाद सीबीआई ने उन्‍हें समन भेजा था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खास अफसरों में शुमार कोलकाता के पूर्व कमिश्नर राजीव कुमार शनिवार को सीबीआई ऑफिस में नहीं पेश हुए थे।

जांच एजेंसी ने कुमार को करोड़ों रुपये के शारदा चिटफंड घोटाले में पूछताछ के लिए शुक्रवार को समन भेजा था। उनसे शनिवार सुबह 10 बजे तक सीबीआई ऑफिस में उपस्थित रहने के लिए कहा गया था। जांच एजेंसी ने कोर्ट में दलील दी कि वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी को चिटफंड घोटाले में पूछताछ के लिए कई नोटिस भेजे गए, मगर वह एजेंसी के सामने पेश नहीं हो रहे हैं।

सीबीआई के वकीलों ने अलीपुर के एसीजेएम कोर्ट में कहा कि राजीव कुमार जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। हालांकि राजीव के वकीलों ने कहा कि राजीव कुमार इस घोटाले में गवाह हैं न कि आरोपी, ऐसे में कोर्ट उनके खिलाफ अरेस्ट वॉरंट नहीं जारी कर सकता है। राजीव कुमार वर्तमान में पश्चिम बंगाल सीआईडी के एडीजी हैं।

राजीव के वकीलों ने कोर्ट को बताया कि राजीव भगोड़े नहीं हैं। उन्होंने सीबीआई को सूचित किया है कि वह 1-25 सितंबर तक उपलब्ध नहीं रहेंगे। शारदा चिटफंड घोटाला दक्षिण 24 परगना जिले में अलीपुर अदालत में दर्ज किया गया था।

 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

8 + 7 =

पाठको की राय