Monday, October 21st, 2019

पीसीएस 2018 प्री का परिणाम संशोधित, 160 और महिलाएं सफल

 प्रयागराज 
लोक सेवा आयोग ने हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के आदेश का अनुपालन करते हुए पीसीएस/एसीएफ एवं आरएफओ 2018 प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम संशोधित कर दिया है। संशोधन के बाद पीसीएस प्री के अलग-अलग सात ग्रुप में 199 महिला अभ्यर्थियों को क्षैतिज आरक्षण का लाभ देते हुए मुख्य परीक्षा के लिए सफल किया गया है। इनमें से 39 महिला अभ्यर्थी ऐसी हैं, जो एक से अधिक ग्रुप में सफल हुई हैं इसलिए सफल महिला अभ्यर्थियों की वास्तविक संख्या 160 है। 

यह महिला अभ्यर्थी यूपी के बाहर के राज्यों की रहने वाली हैं। इन्हें 18 अक्तूबर से शुरू हो रही पीसीएस 2018 मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाएगा। 

आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि पीसीएस 2018 प्री में सफल महिला अभ्यर्थियों के आवेदन पत्र में दिए गए ई-मेल पर मुख्य परीक्षा के आवेदन पत्र का प्रारूप भेजा जा रहा है, जिसे भरकर उन्हे 11 अक्तूबर को दिन में 5 बजे तक उसी ई-मेल से ही आयोग को भेजना है। 

महिला अभ्यर्थियों को आवेदन पत्र की हार्ड कॉपी के साथ 225 रुपये परीक्षा शुल्क का बैंक ड्राफ्ट बनवाकर मुख्य परीक्षा के प्रथम दिन यानी 18 अक्तूबर को पहली पाली में जमा करना होगा। जिन सफल महिला अभ्यर्थियों की ईमेल आईडी गलत है, उन्हें 10 एवं 11 अक्तूबर को आयोग दफ्तर में उपस्थित होकर मुख्य परीक्षा का आवेदन पत्र लेकर उसे भरने के बाद समस्त अभिलेखों के साथ जमा करना होगा। 

बता दें कि हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने खुशबू बंसल की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए 30 सितंबर को आयोग को पीसीएस एवं एसीएफ तथा आरएफओ 2018 प्री परिणाम की महिलाओं की चयन सूची को संशोधित कर जारी करने के आदेश दिए थे। 

यह आदेश उत्तर प्रदेश की अधिवासी महिला अभ्यर्थियों को आरक्षण प्रदान करने वाले शासनादेश को प्रभावहीन मानते हुए दिया गया था। सचिव जगदीश ने बताया कि 30 मार्च 2019 को घोषित परिणाम में प्रत्येक ग्रुप में महिलाओं के लिए जो कटऑफ अंक निर्धारित किया गया है, उस कटऑफ के तहत बाहर की सभी महिला अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया है। 

एक्जीक्यूटिव ग्रुप में 152, एग्रीकल्चर और विशेष अर्हता ग्रुप लेखा परीक्षा अधिकारी/सहायक निदेशक वित्त के लिए 12-12, विशेष अर्हता ग्रुप खाद्य सुरक्षा अधिकारी के लिए छह, विशेष अर्हता ग्रुप श्रम अधिकारी के लिए एक, विशेष अर्हता ग्रुप जिला सूचना अधिकारी के लिए नौ तथा विशेष अर्हता ग्रुप प्रधानाचार्य के लिए सात महिला अभ्यर्थियों को सफल किया गया है। 

बता दें कि 30 मार्च 2019 को जारी प्री के परिणाम में नौ जनवरी 2007 के शासनादेश के मुताबिक उत्तर प्रदेश की महिला अभ्यर्थियों को 20 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण दिया गया था जबकि हाईकोर्ट ने 16 जनवरी 2019 को एक मामले की सुनवाई करते हुए इस शासनादेश को खारिज कर दिया था। 

30 मार्च 2019 को घोषित पीसीएस 2018 प्री परिणाम में 988 पदों के लिए 19096 अभ्यर्थियों को सफल किया गया था।

एसीएफ/आरएफओ के लिए 24 सफल-

आयोग ने सहायक वन संरक्षक एवं क्षेत्रीय वन अधिकारी (एसीएफ/आरएफओ) प्री के परिणाम को संशोधित करते हुए 24 और महिला अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिए सफल किया है। एसीएफ एवं आरएफओ 2018 मुख्य परीक्षा 23 फरवरी 2020 से होनी है इसलिए इसकी मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन बाद में लिए जाएंगे। 30 मार्च को घोषित परिणाम में एसीएफ एवं आरएफओ के 92 पदों के लिए 2245 अभ्यर्थियों को सफल किया गया था।

सीधी भर्तियों के पांच परिणाम घोषित-
आयोग ने शनिवार को सीधी भर्ती के पांच परिणाम घोषित किए। खेल निदेशालय में सहायक प्रशिक्षक भारोत्तोलन के एक पद के लिए रवि कुमार शर्मा को सफल किया गया है। प्राविधिक शिक्षा विभाग में प्रवक्ता यांत्रिक अभियंत्रण के एक पद के लिए अभिषेक राजपूत तथा प्रवक्ता सिविल अभियंत्रण के एक पद के लिए अनस साहिल मुल्तानी को सफल किया गया है। वहीं प्रवक्ता आर्कीटेक्चर के दो पदों के लिए सत्येंद्र कुमार चौधरी, दीपा कनौजिया तथा भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय में सहायक भू-भौतिकविद के दो पदों के लिए दीपेंद्र यादव और इंदू चौधरी को सफल किया गया है।
 

Source : Agency

आपकी राय

5 + 1 =

पाठको की राय