Monday, October 14th, 2019

बिना दंड जांच खत्म, सक्सेना-कुमरे को राहत

भोपाल
 राज्य सरकार ने मनरेगा खरीदी में अनियमितता को लेकर विभागीय जांच का सामना कर रहे आईएएसएस एसएस कुमरे की विभागीय जांच प्रशासकीय चेतावनी के साथ बिना किसी दंड के समाप्त कर दी है। वहीं आईएएस आशीष सक्सेना को केन्द्र सरकार द्वारा दो वर्ष की वरिष्ठता दिए जाने के बाद उन्हें कनिष्ठ प्रशासनिक वेतनमान भी तीन साल पहले प्रदान करने का निर्णय लिया है।

अब रिटायर हो चुके आईएएस कुमरे को उमरिया कलेक्टर के पद पर रहते हुए वर्ष 2009 और 2010 में मनरेगा के कार्य में अनियमितता के चलते कारण बताओ नोटिस दिया गया था। जांच के चलते वर्ष 2000 और अन्य वर्षो में पदोन्नति समिति की बैठक में उनके नाम पर विचार के बाद पदोन्नति के संबंध में उपयुक्तता की अनुशंसा सीलबंद लिफाफे में रखी गई थी। उस दौरान उन्हें प्रवर श्रेणी वेतनमान में पदोन्नति नहीं दी गई थी। केन्द्र सरकार के आदेश को ध्यान में रखते हुए कुमरे के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही का प्रकरण प्रशासकीय चेतावनी देते हुए बिना किसी दंड के समाप्त कर दिया गया है। लिफाफा खुलने पर उन्हें पदोन्नति के उपयुक्त पाया गया है।

एक जनवरी 2013 से उन्हें काल्पनिक पदोन्नति देते हुए उनकी पेंशन और अन्य स्वत्वों में इसका लाभ दिया जाएगा। छानबीन समिति की बैठक में दो माह पहले हुई रिव्यू बैठक में उन्हें अधिसमय वेतनमान के लिए भी उपयुक्त पाया गया है। इसलिए उन्हें यह वेतनमान भी देने का निर्णय लिया गया है। इसी साल मार्च में वे रिटायर हो चुके है। इसलिए उन्हें आगे पेंशन में इसका लाभ मिलेगा।

 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

13 + 4 =

पाठको की राय