Tuesday, November 19th, 2019

शरद पूर्णिमा का क्या है महत्व? सेहत और धन प्राप्ति के लिए करें ये उपाय

 
नई दिल्ली 

शरद ऋतु की पूर्णिमा काफी महत्वपूर्ण तिथि है. इसी तिथि से शरद ऋतु का आरम्भ होता है. चन्द्रमा इस दिन संपूर्ण, सोलह कलाओं से युक्त होता है. इस दिन चन्द्रमा से अमृत की वर्षा होती है जो धन, प्रेम और स्वास्थ्य तीनों देती है. प्रेम और कलाओं से परिपूर्ण होने के कारण श्री कृष्ण ने इसी दिन महारास रचाया था. इस दिन विशेष प्रयोग करके बेहतरीन स्वास्थ्य, अपार प्रेम और खूब सारा धन पाया जा सकता है. पर प्रयोगों के लिए कुछ सावधानियों और नियमों के पालन की आवश्यकता है.

शरद पूर्णिमा पर किन सावधानियों के पालन की आवश्यकता है?

- इस दिन पूर्ण रूप से जल और फल ग्रहण करके उपवास रखने का प्रयास करें

- उपवास रखें न रखें पर इस दिन सात्विक आहार ही ग्रहण करें तो ज्यादा बेहतर होगा

- शरीर के शुद्ध और खाली रहने से आप ज्यादा बेहतर तरीके से अमृत की प्राप्ति कर पायेंगे

- इस दिन काले रंग का प्रयोग न करें. चमकदार सफेद रंग के वस्त्र धारण करें तो ज्यादा अच्छा होगा

अच्छे स्वास्थ्य के लिए इस दिन क्या प्रयोग करें?

- रात्री के समय स्नान करके गाय के दूध में घी मिलाकर खीर बनायें

- खीर को भगवान् को अर्पित करके विधिवत भगवान् कृष्ण की पूजा करें

- मध्य रात्री में जब चन्द्रमा पूर्ण रूप से उदित हो जाए तब चंद्रदेव की उपासना करें

- चन्द्रमा के मंत्र "ॐ सोम सोमाय नमः" का जाप करें

- खीर को चन्द्रमा की रौशनी में रख दें

- खीर को कांच,मिटटी या चांदी के पात्र में ही रखें , अन्य धातुओं का प्रयोग न ही करें  


- प्रातः काल जितनी जल्दी इस खीर का सेवन करें उतना ही उत्तम होगा

- सबसे उत्तम है कि इस खीर का सेवन भोर में , सूर्योदय के पूर्व किया जाय

प्रेम में सफलता के लिए इस दिन क्या प्रयोग करें ?

- शाम के समय भगवान राधा-कृष्ण की उपासना करें

- दोनों को संयुक्त रूप से एक गुलाब के फूलों की माला अर्पित करें

- मध्य रात्रि को सफेद वस्त्र धारण करके चन्द्रमा को अर्घ्य दें

- इसके बाद निम्न मंत्र का कम से कम 3 माला जाप करें -"ॐ राधावल्लभाय नमः"

- या मधुराष्टक का कम से कम 3 बार पाठ करें

- मनचाहे प्रेम को पाने की प्रार्थना करें

- भगवान को अर्पित की हुयी गुलाब की माला को अपने पास सुरक्षित रखें


अपार धन की प्राप्ति के लिए इस दिन क्या प्रयोग करें?

- रात्री के समय मां लक्ष्मी के समक्ष घी का दीपक जलाएं

- इसके बाद उन्हें गुलाब के फूलों की माला अर्पित करें

- सफेद मिठाई और सुगंध भी अर्पित करें

- इसके बाद निम्न मंत्र का कम से कम 11 माला जाप करें

- "ॐ ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद महालक्ष्मये नमः"

- आपको धन का अभाव नहीं होगा

Source : Agency

आपकी राय

6 + 3 =

पाठको की राय