Tuesday, November 19th, 2019

Swiggy में बंपर नौकरियां, डेढ़ साल में होगी 3 लाख लोगों की भर्ती

नई दिल्ली

    फूड डिलिवरी करने वाले वाला ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है स्विगीकंपनी ने 3 लाख लोगों की भर्ती करने का ऐलान किया हैइसके बाद वह निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी एम्प्लॉयर बन जाएगी

फूड डिलिवरी करने वाले वाले ऑनलाइन प्लेटफॉर्म स्विगी (Swiggy) ने अगले 18 महीनों में 3 लाख लोगों की भर्ती करने का ऐलान किया है. ऐसा हुआ तो Swiggy के कर्मचारियों की संख्या करीब 5 लाख हो जाएगी. Swiggy ने दावा किया है कि इससे वह सेना और रेलवे के बाद देश की तीसरी सबसे बड़ी एम्प्लॉयर हो जाएगी.

एक सालाना टेक्नोलॉजी कॉन्फ्रेंस गीगाबाइट्स को संबोधित करते हुए Swiggy के सह-संस्थापक और सीईओ श्रीहर्ष मजेटी ने कहा, 'हमारे बढ़त के अनुमान यदि जारी रहे, तो अगले कुछ साल में ही हम सेना और भारतीय रेल के बाद तीसरे बड़े एम्प्लॉयर हो जाएंगे.'  

गौरतलब है कि मार्च 2018 तक भारतीय सेना ने करीब 12.5 लाख लोगों को रोजगार दिया है और रेलवे में करीब 12 लाख कर्मचारी कार्यरत हैं. अभी तक निजी क्षेत्र में सबसे ज्यादा 4.5 लाख कर्मचारियों को रोजगार आईटी कंपनी टीसीएस ने दिया है. Swiggy यदि अपने कर्मचारियों की संख्या को बढ़ाकर 5 लाख कर लेती है तो वह निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी नियोक्ता बन जाएगी.

हालांकि बाकी तीन विभागों-कंपनियों और स्विगी की नौकरी में फर्क है. बाकी कंपनियों में कर्मचारियों में पूर्णकालिक रोजगार होता है और सभी तरह के फायदे मिलते हैं. लेकिन Swiggy ब्लू कॉलर जॉब और डिलिवरी बॉय की भर्ती ज्यादा करती है, जिन्हें कि उनके काम के मुताबिक पैसा मिलता है. Swiggy के पास 2.1 लाख सक्रिय डिलिवरी स्टाफ हैं और करीब 8,000 स्थायी कॉरपोरेट कर्मचारी हैं.

Swiggy की प्रतिद्वंद्वी कंपनी Zomato के पास सितंबर के आंकड़ों के मुताबिक 2.3 लाख डिलिवरी एग्जीक्यूटिव्स थे. दिग्गज ऑनलाइन रिटेल कंपनी Flipkart के पास 1 लाख डिलिवरी एग्जीक्यूटिव हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, एमेजॉन इंडिया अपने एग्जीक्यूटिव्स की संख्या नहीं बताती.

मजेटी ने कहा कि अगले 10-15 साल में कंपनी का लक्ष्य ऐसे 10 करोड़ सक्रिय ग्राहक हासिल करने का है जो महीने में कम से कम 15 बार उसके प्लेटफॉर्म पर आएं. गौरतलब है कि Swiggy करीब 3.3 अरब डॉलर वैल्यूएशन वाली कंपनी है और भारत के करीब 500 शहरों में सक्रिय है. इसके प्लेटफॉर्म से हर साल करीब 50 करोड़ ऑर्डर दिए जाते हैं.

इसमें सबसे बड़ी निवेशक दक्षिण अफ्रीकी कंपनी Naspers है. कंपनी ऐसे अनूठे क्लाउड किचेन 'पॉड्स' शुरू करने की तैयारी कर रही है, जिसमें एक ही जगह कई रेस्टोरेंट के फूड आइटम तैयार हो सकेंगे और इस तरह आसानी से 10 मिनट के भीतर डिलिवरी हो जाएगी.

Source : Agency

आपकी राय

5 + 3 =

पाठको की राय