Friday, November 15th, 2019

सेंसेक्स 330 अंक लुढ़का

मुंबई
विश्व की जानी-मानी रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody's) द्वारा भारत की क्रेडिट रेटिंग को स्टेबल से घटाकर नेगेटिव करने का असर तुरंत शेयर मार्केट पर दिखा और सेंसेक्स 330 अंक टूटकर 40,323.61 पर और निफ्टी 103.90 अंक गिरकर 11,908.15 पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स 40,749 के उच्च स्तर तक पहुंचा था।

आईटी और एफएमसीजी के शेयरों में भारी गिरावट
मूडीज की घोषणा के बाद शेयर मार्केट में आईटी , एफएमसीजी , धातु और ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई। सेंसेक्स की कंपनियों में सन फार्मा, वेदांता, ओएनजीसी, टीसीएस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, एनटीपीसी, एशियन पेंट्स और इंफोसिस में 4.23 प्रतिशत तक की गिरावट रही।

निवेशकों को लगा झटका
मूडीज की ताजा रिपोर्ट से भारत में निवेश करने वालों को झटका लगा है। उसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि सरकार आर्थिक मोर्चे पर जारी सुस्ती को दूर करने में आंशिक रूप से नाकाम रही है। इसके चलते आर्थिक वृद्धि के नीचे बने रहने का जोखिम बढ़ गया है।

सरकार ने मूडीज की रेटिंग को नकारा
हालांकि सरकार ने मूडीज द्वारा रेटिंग घटाने को सिरे से नकारा और कहा कि अर्थव्यवस्था में सबकुछ सही चल रहा है। विकास दर में कमी आने के बावजूद वर्तमान में भारत की अर्थव्यवस्था विश्व में सबसे तेजी से विकास करने वाली अर्थव्यवस्था में शामिल है।

अन्य एजेंसियों ने भी विकास का अनुमान घटाया है
अन्य एजेंसियों की बात करें तो चालू वित्त वर्ष के लिए विकास का अनुमान आईएमएफ, विश्व बैंक और रिजर्व बैंक (RBI)ने भी घटाया है। विश्व बैंक ने ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 6 फीसदी कर दिया है, हालांकि 2021 में विकास दर 6.9 फीसदी तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया है। IMF ने विकास का अनुमान घटाकर 7 फीसदी और RBI ने 6.8 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 10 =

पाठको की राय