Monday, December 9th, 2019

विश्व कप फाइनल्स में अपनी सबसे बड़ी टीम के साथ उतरेगा भारत

पुतियान (चीन)
अब तक की अपनी सबसे बड़ी टीम के साथ पहुंचा भारत मंगलवार से यहां शुरू हो रहे अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी महासंघ के सत्रांत विश्व कप फाइनल्स में प्रत्येक 10 ओलंपिक स्पर्धाओं में निशानेबाज उतारेगा। इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से विभिन्न वर्गों में सत्र के सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज का फैसला होगा। भारत ने 19 स्पर्धाओं के लिए 14 सदस्यीय टीम उतारी है। राइफल और पिस्टल निशानेबाजों की इस वार्षिक शीर्ष प्रतियोगिता में भारतीय निशानेबाजों को अच्छे प्रदर्शन का भरोसा है। इस टूर्नामेंट में प्रत्येक स्पर्धा में शीर्ष रैंकिंग वाले निशानेबाजों को हिस्सा लेने का मौका मिलेगा। मंगलवार को 10 स्पर्धाओं के फाइनल होंगे। टूर्नामेंट से पहले भारत के राष्ट्रीय कोच जसपाल राणा ने कहा, ‘‘टीम के सभी सदस्य फिट और अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बेताब हैं।’’

मंगलवार को सबसे पहले पदक के लिए दावेदारी पुरुष 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन में संजीव राजपूत और अखिल श्योराण पेश करेंगे जबकि इसी स्पर्धा के महिला वर्ग में अंजुम मोदगिल चुनौती देंगी। महिला 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत की चार निशानेबाजी रेंज पर उतरेंगी। भारत ने अपने 10 ओलंपिक कोटा में से पहले दो इसी स्पर्धा में पिछले साल दक्षिण कोरिया के चांगवोन में विश्व चैंपियनशिप के दौरान हासिल किए। अंजुम मोदगिल ने तब रजत पदक जीता था जबकि अपूर्वी चंदेला चौथे स्थान पर रहीं थी। दुनिया की नंबर एक निशानेबाज अपूर्वी विश्व कप फाइनल्स में पहले ही रजत पदक जीत चुकी हैं जबकि अंजुम पहली बार इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही हैं। 

टूर्नामेंट के लिए रवाना होने से पहले अंजुम ने कहा था, ‘‘एक बार फिर मुख्य थ्री पोजीशन टीम का हिस्सा बनकर मैं काफी रोमांचित हूं और अपने पहले विश्व कप फाइनल में अच्छा प्रदर्शन करने को लेकर उत्सुक हूं।’’ विश्व कप फाइनल्स में पदार्पण कर रहीं मेहुल घोष भी इस टूर्नामेंट को लेकर रोमांचित हैं। वह महिला 10 मीटर एयर राइफल में चुनौती पेश करेंगी जिसमें इलावेनिल वलारिवान भी उतरेंगी। व्यक्तिगत स्पर्धाओं में क्वालीफाई करने वाले निशानेबाजों को मिश्रित टीम एयर राइफल और पिस्टल स्पर्धाओं में भी हिस्सा लेने की स्वीकृति होगी जबकि प्रेजिडेंट्स ट्राफी के लिए चुनौती पेश करने का मौका भी मिलेगा।

Source : Agency

आपकी राय

4 + 11 =

पाठको की राय