Thursday, December 12th, 2019

पेण्ड्रा की आदिवासी महिलाएं गेंड़ी नृत्य में निपुण

बिलासपुर
बिलासपुर में आयोजित जिला स्तरीय युवा महोत्सव के प्रमुख आकर्षण में पेण्ड्रा की आदिवासी महिलाओं द्वारा किया जाने वाला गेड़ी नृत्य भी था। ये महिलायें पेण्ड्रा के दूरस्थ ग्रामों झाबर, नवागांव आदि से महोत्सव में शामिल होने के लिये यहां पहुंची थी और मंच पर सधे हुए अंदाज में उन्होंने गेड़ी नृत्य प्रस्तुत कर दर्षकों को आष्चर्यचकित कर दिया। गेंड़ी नृत्य अब तक पुरूषों द्वारा ही किया जाता रहा है। लेकिन इन महिलाओं ने इस विधा में पुरूषों के वर्चस्व को तोड़ा है।

स्मार्ट आजीविका महिला संकुल संगठन नवागांव से जुड़ी हुई स्व-सहायता समूह की इन महिलाओं ने बताया कि उन्होंने विकासखंड स्तर पर आयोजित युवा महोत्सव में सुआ और गेड़ी नृत्य प्रस्तुत कर जिला स्तर के प्रतियोगिता में अपना स्थान बनाया है। आज उन्होंने जिला स्तरीय महोत्सव में गेड़ी और सुआ नृत्य का भी प्रदर्शन किया। समूह की अध्यक्ष पार्वती चन्द्रा सहित संगीता सलाम, विमला पुरी, संतोषी पैकरा, ललिता कुशराम, शांति देवी कंवर, उर्मिला श्याम, जयकुमारी जायसवाल आदि महिलाओं ने युवा महोत्सव में उत्साह से भागीदारी की। इन महिलाओं ने बताया कि अपनी परंपरा और संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिये उन्होंने युवा महोत्सव में भाग लिया है। समूह की ये महिलाएं विभिन्न रोजगारमूलक गतिविधियों में भी सक्रिया भागीदारी कर रही हैं। पेण्ड्रा के ग्राम नवागांव में नरवा, गरूवा, घुरूवा योजना अंतर्गत निर्मित गौठान में वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने का कार्य हाथ में लिया है और अभी 12 क्विंटल खाद बनाकर इसकी बिक्री कर आय प्राप्त किया है। साथ ही गौठान के चारागाह में उन्होंने सब्जी उत्पादन का कार्य भी प्रारंभ किया है। मछली पालन, बकरी पालन व्यवसाय के साथ-साथ सेनेटरी नेपकिन विक्रय का कार्य भी ये महिलायें करती हैं।

Source : Agency

आपकी राय

7 + 14 =

पाठको की राय