Thursday, December 12th, 2019

पटना में ट्रिपल मर्डर : फौजी ने चलती कार में पत्नी-साली की हत्या कर खुद को उड़ाया

 पटना 
आर्मी के एक जवान ने चलती कार में पहले साली और पत्नी को गोलियों से भून डाला, फिर खुद को भी गोली से उड़ा लिया।  जवान ने साली को चार और पत्नी को तीन, जबकि खुद एक गोली कनपटी में मारी। यह खूनी खेल रानी तालाब थाना इलाके के सैदाबाद सोन-कैनाल पथ पर रविवार की सुबह पौने 11 बजे हुआ। चचेरे ससुर की सूझबूझ से फौजी के दोनों बच्चे की जान बच गई। जिसने भी इस लोमहर्षक वारदात के बारे में सुना, वह दंग रह गया। 

आर्मी का जवान विष्णु शर्मा भोजपुर जिले के गड़हनी थाना इलाके के लालगंज गांव का रहने वाला था। सुबह में वह भोजपुर जिले के तरारी स्थित अपनी ससुराल से डेंगू का इलाज कराने कार से पटना आ रहा था। कार फौजी का चचेरा ससुर मिथिलेश ठाकुर चला रहा था, जबकि पिछली सीट पर जवान, उसकी पत्नी दामिनी (33) और साली डिंपल उर्फ खुशबू (24) बैठी थी। आगे की सीट पर विष्णु के दो बेटे विराट (7) और वैभव (6) बैठे थे। पुलिस ने कार से 7.65 बोर की एक पिस्टल, पांच खोखे, चार पिलेट और हथियार में लोड चार गोलियां बरामद की हैं। दो मैगजीन भी पुलिस को मिली हैं। एक खाली थी, जबकि दूसरे में चार गोलियां थीं। गुजरात में तैनात आर्मी का जवान विष्णु साली डिंपल की शादी में शरीक होने को लिए बीते 22 नवंबर को ही छुट्टी लेकर घर आया था।
 
पहले साली को मारी गोली
गाड़ी के चालक और रिश्ते में ससुर लगने वाले मिथिलेश की बातों पर यकीन करें तो गाड़ी में किसी के बीच झगड़ा नहीं हुआ। सैदाबाद के नजदीक जैसे ही गाड़ी पहुंची, अचानक दामाद विष्णु ने पिस्टल निकाल ली और उनकी भतीजी (साली) डिंपल को गोली मार दी। जब उसकी पत्नी दामिनी ने रोकना चाहा तो उसने उसकी भी गोली मारकर हत्या कर दी। गोलियों की तड़तड़ाहट सुनकर उन्होंने गाड़ी रोक दी तथा विष्णु को रोकना चाहा। मगर उसने उन्हें भी गोली मार देने की धमकी दी। डरकर वे दोनों बच्चों को लेकर कुछ दूर पीछे हट गये। तब तक विष्णु ने खुद को भी उड़ा लिया। 

गोलियों की आवाज सुन पहुंचे मजदूर 
जैसे ही कार अरवल की ओर से सैदाबाद सोन नहर पथ पर पहुंची, वैसे ही फायरिंग की आवाज आने लगी। सुनकर आसपास के खेतों में धान काट रहे मजदूर दौड़े-भागे मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में तीनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। गांववालों ने ही पुलिस को खबर दी।
 
डेंगू के कारण डिप्रेशन में था जवान
मृतक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि डेढ़ महीने पहले विष्णु को डेंगू हुआ था। तब से वह डिप्रेशन में था। कभी-कभी रात में उठकर वह चिल्लाने लगता था। इसी का इलाज कराने परिजन जवान को लेकर पटना आ रहे थे। 

एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची
घटना के बाद पुलिस की सूचना पर एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया गया। एफएसएल ने जरूरी साक्ष्य मौके से इकट्टा किये हैं। शव की जांच फोरेंसिक टीम ने भी की। बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। 

प्रथमदृष्टया यह बात सामने आयी है कि आर्मी के जवान ने पहले अपनी पत्नी और साली को गोली मारी फिर खुद को भी उड़ा लिया। पुलिस इस मामले की जांच करने में जुटी हुई है। 
- मनोज पांडेय, पालीगंज डीएसपी

Source : Agency

आपकी राय

13 + 12 =

पाठको की राय