Sunday, January 26th, 2020

हैदराबाद एनकाउंटर की जांच को बनी एसआईटी

हैदराबाद
हैदराबाद में डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या के चारों आरोपियों के पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद अब इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। आरोपियों के साथ हुई मुठभेड़ की जांच के लिए तेलंगाना की राज्य सरकार की ओर से विशेष जांच टीम का गठन किया गया है। इस विशेष जांच टीम की कमान रचकोंडा के पुलिस कमिश्नर महेश एम भागवत को सौंपी गई है।

रविवार को ही हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराते हुए इस एनकाउंटर को एक फर्जी मुठभेड़ बताया गया था। इस शिकायत के बाद तेलंगाना की केसीआर सरकार ने जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया। जानकारी के अनुसार, रचकोंडा के पुलिस कमिश्नर महेश एम भागवत की अध्यक्षता में बनी यह टीम एनकाउंटर से जुड़े सभी पहलुओं की जांच करेगी।

पुलिस टीम का बयान दर्ज होगा
टीम के सदस्य इस केस से जुड़े गवाहों की पहचान करेंगे और उनका बयान लेंगे। इसके अलावा यह टीम एनकाउंटर की कार्रवाई में शामिल पुलिस टीम से भी पूछताछ करेगी। इस मामले को लेकर अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग भी सक्रिय हो गया है। शनिवार को आयोग की टीम ने हैदराबाद पहुंचकर जांच की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एनएचआरसी की टीम ने महबूबनगर के सरकारी अस्पताल का भी दौरा किया, जहां चारों आरोपियों के शव पोस्टमॉर्टम के बाद रखे गए हैं।

एनएचआरसी ने भी दिए जांच के आदेश
एनएचआरसी ने कथित मुठभेड़ में चार आरोपियों के मारे जाने पर संज्ञान लेते हुए शुक्रवार को जांच के आदेश दिए थे। देश में मानवाधिकार की सर्वोच्च संस्था ने कहा था कि मुठभेड़ चिंता का विषय है और इसकी सावधानीपूर्वक जांच किए जाने की जरूरत है। इससे पूर्व तेलंगाना हाई कोर्ट ने शुक्रवार को प्रदेश सरकार को निर्देश दिया था कि वह चारों आरोपियों के शव 9 दिसंबर को रात 9 बजे तक सुरक्षित रखे। हैदराबाद के निकट शुक्रवार की सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में चारों आरोपी मार गिराए गए थे। इन चारों को 25 वर्षीय महिला से दुष्कर्म और हत्या के आरोप में 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 12 =

पाठको की राय