Wednesday, August 5th, 2020
Close X

नागरिकता संशोधन बिल पास होने को सोनिया गांधी ने बताया काला दिन, शिवसेना बोली- शरणार्थियों को न मिले वोटिंग का हक

नई दिल्ली 
नागरिकता संशोधन बिल के राज्यसभा से भी मंजूरी मिलने पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि यह भारतीय लोकतंत्र के इतिहास काला दिन है। सोनिया ने कहा कि यह संकीर्ण मानसिकता की जीत और भारत की बहुलता पर कट्टरवाजी तत्वों की जीत है। सोनिया गांधी के अलावा बिल पर वोटिंग का बायकॉट करने वाली शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि शरणार्थियों को नागरिकता दी जानी चाहिए, लेकिन उन्हें वोटिंग का अधिकार नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा सरकार से कहना है कि आपके ऊपर इस मसले पर वोट बैंक की राजनीति करने के आरोप लग रहे हैं, ऐसे में आपको इन लोगों को 25 साल तक वोटिंग का अधिकार नहीं देने का प्रावधान करना चाहिए। गौरतलब है कि विपक्ष ने इस बिल को लेकर कहा कि यह देश के संविधान की मूल भावना के विपरीत है।बिल पर चर्चा करते हुए कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने पूछा कि इस बिल में केवल तीन देशों का और सिलेक्टिव धर्मों का ही चुनाव क्यों किया गया है। आजाद ने कहा कि भूटान, श्री लंका और म्यांमार में भी हिंदू रहते हैं और अफगानिस्तान के मुसलमानों के साथ भी अन्याय हुआ लेकिन उनको विधेयक के प्रावधान में शामिल नहीं किया गया है। 

Source : Agency

आपकी राय

4 + 6 =

पाठको की राय