Wednesday, August 12th, 2020
Close X

जूता चुराने पर दूल्हा भड़का, दुलहन ने तोड़ी शादी

मुजफ्फरनगर
शादी के दौरान जूता चुराई एक ऐसी रस्म होती है, जिसका दुलहन की बहनों को बेसब्री से इंतजार रहता है, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में इस रिवाज के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि शादी ही टूट गई। आरोप है कि दूल्हे ने लड़की की तरफ की कुछ महिलाओं को अपशब्द कहे, इसके बाद बारात को सिसौली से दिल्ली वापस लौटना पड़ा।
यह घटना भोराकलां पुलिस थाने की है। यहां हो रही एक शादी में जूता चुराई की रस्म चल रही थी। दुलहन की तरफ की लड़कियों ने जूता चुराया और इसे वापस करने के एवज में पैसों की मांग की। 22 साल का दूल्हा इस पर राजी नहीं हुआ और उसने गाली-गलौच शुरू कर दी। जब दुलहन को इस बारे में पता चला तो उसने फौरन शादी तोड़ दी। यही नहीं दहेज में लिए गए 10 लाख रुपये वापस करने की बात मानने के बाद ही बारात को लौटने की इजाजत मिल पाई।

सूत्रों के मुताबिक जब लड़की के परिजनों ने दूल्हे को समझाने की कोशिश की तो वह भड़क उठा। दूल्हे ने अपशब्द कहते हुए एक शख्स को थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद दुलहन के परिजनों और मित्रों ने शादी को तोड़ने का फैसला किया। सिर्फ दूल्हे, उसके पिता और दो रिश्तेदारों को छोड़कर पूरी बारात को लौटा दिया गया। परिजनों ने दूल्हे समेत इन लोगों को बंधक बना लिया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। भोराकलां पुलिस थाने के एसएचओ वीरेंद्र कसाना का कहना है, 'किसी पक्ष की तरफ से कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है। थाने के बाहर दूल्हा और दुलहन के परिजन समझौते के लिए तैयार हो गए।'

इस मामले में भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के अध्यक्ष नरेश टिकैत को भी बीच-बचाव के लिए आगे आना पड़ा। टिकैत ने बताया कि काफी मनाने के बावजूद दुलहन शादी के लिए राजी नहीं हुई। बताया जा रहा है कि दूल्हा दिल्ली के नांगलोई इलाके की एक निजी कंपनी में काम करता है। गुरुवार को वह बारात के साथ मुजफ्फरनगर के सिसौली आया था।

Source : Agency

आपकी राय

5 + 14 =

पाठको की राय