Monday, April 6th, 2020

 रेलवे में स्थाई होंगे संस्थान व क्लब के 2300 कैजुअल कर्मचारी

 जमशेदपुर 
रेलवे संस्थान एवं क्लब के कैजुअल कर्मचारी में स्थाई होंगे। इसके तहत यूनियन व प्रेम कार्यालय में वर्षों से 17 जोन में काम कर रहे करीब 23 सौ कैजुअल कर्मचारियों को रेलवे कर्मचारी का दर्जा मिलेगा।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने 16 जनवरी को यूनियन नेताओं के साथ बैठक में यह घोषणा की है। नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन के सहायक महामंत्री एसआर मिश्रा ने यह जानकारी दी। एनएफआईआर ने कई बार रेलवे बोर्ड की जेसीएम व अन्य बैठक में यह मुद्दा उठाया था। अभी रेलमंत्री की घोषणा के बाद कैजुअल कर्मचारियों के जीवन स्तर में सुधार की उम्मीद जगी है। टाटानगर में सात, चक्रधरपुर मंडल स्तर पर 24 एवं दक्षिण-पूर्व जोन के चार मंडलों में 147 ऐसे कैजुअल कर्मचारी हैं। 

अभी मिलती हैं सुविधाएं: कैजुअल कर्मचारियों को अभी रेलवे के रहने के लिए क्वार्टर, ओपीडी में इलाज की सुविधा, वर्ष में एक यात्रा पास के साथ बच्चे को रेलवे स्कूल में पढ़ाने की सुविधा मिलती है। रेलकर्मियों की तरह अन्य सुविधाएं नहीं मिलती हैं, जबकि पूरा जीवन रेलवे का काम करने में गुजर जाता है। 

Source : Agency

आपकी राय

10 + 13 =

पाठको की राय