Saturday, February 22nd, 2020

जानकर रह जाएंगे हैरान, गुलकंद खाने के हैं कई फायदे

 

गुलाब की नाजुक पंखुड़ियों के फायदों के बारे में आपने जो भी सुना होगा वो सिर्फ और सिर्फ खूबसूरती से जुड़ा होगा। लेकिन क्या आपने गुलाब के फूलों से बने गुलकंद के फायदों के बारे में पढ़ा या सुना है? अगर नहीं तो यहां जानें कि कैसे रूप के साथ मन को भी निखार देते हैं गुलाब के फूल...

क्या होता है गुलकंद?
गुलाब की ताजा पंखुडियों को शक्कर के साथ या शहद के साथ मिलाकर एक निश्चित समय के लिए स्टोर किया जाता है। कुछ वक्त बाद शहद या शुगर में मिलाई गई गुलाब के ये पंखुड़ियां अपना रस छोड़ देती हैं और पूरी तरह इस स्वीट लिक्विड में मिल जाती है। इसी तैयार मिश्रण को गुलकंद कहा जाता है।

औषधि सरीका है गुलकंद
आयुर्वेद में गुलकंद को औषधि की संज्ञा दी गई है। कई दवाइयों का कुछ खास बीमारियों में प्रभाव बढ़ाने के लिए गुलकंद खाने की सलाह दी जाती है। आइए जानते हैं कि गुलकंद खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं हमारे शरीर को।

पेट की जलन करे शांत
अगर कुछ गर्म और तीखा खाने के बाद आपके पेट में जलन या एसिडिटी की समस्या हो रही है तो आप 1 से 2 चम्मच गुलकंद खा लीजिए। इसका सेवन आपको तुरंत पेट की इस तकलीफ से राहत दिलाएगा।

कब्ज दूर करे
अगर किसी को कब्ज की समस्या रहती है तो खाना खाने के बाद 1 से 2 चम्मद गुलकंद का सेवन किया जा सकता है। इससे आपका पाचन बेहतर होगा और कब्ज की समस्या से राहत पाने में मदद मिलेगी। क्योंकि गुलकंद हमारी आंतों में हेल्पफुल गट बैक्टीरिया बढ़ाने में मददगार होता है, जो खाना पचाने में हमारी मदद करते हैं।

मुंह के छाले दूर करे
अगर आपको मुंह में छालों की समस्या हो रही है तो आप गुलकंद का उपयोग कर सकते हैं। गुलकंद खाने से पेट में ठंडक पहुंचती है और मुंह के छालों में भी आराम मिलता है।

पिंपल्स दूर करता है
ना सिर्फ गुलाबजल लगाने से बल्कि गुलाब से बने गुलकंद को खाने से भी पिंपल्स दूर करने में मदद मिलती है। दरअसल, गुलाब हमारी स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होता है। यह तेजी से स्किन की इंप्योरिटीज दूर कर असर दिखाता है।

अनिंद्रा की समस्या दूर करता है
गुलकंद खाने से नींद ना आने की समस्या दूर करने में भी मदद मिलती है। अगर आप रोज रात को सोने से करीब आधा घंटा पहले दूध के साथ गुलकंद का सेवन करेंगे तो आपका मन शांत होगा और आप अच्छी नींद सो सकेंगे। दरअसल, दूध और गुलकंद की मदद से ब्रेन में मेलाटोनिन हॉर्मोन बढ़ाने में सहायता मिलती है। यह हॉर्मोन हमारी स्लीप क्लॉक को मैनेज करने का काम करता है।

सेक्स पॉवर बनाता है बेहतर
जिस तरह आयुर्वेद में हर फल और सब्जी का एक खास गुण बताया गया है, उसी तरह हर फूल का भी एक खास गुण और प्रकृति बताई गई है। गुलाब को मानसिक शांति और सेक्स हॉर्मोन बढ़ानेवाला फूल माना गया है। शायद यही वजह है कि सदियों से गुलाब का फूल प्रेम का प्रतीक माना जाता रहा है। गुलकंद खाने से महिलाओं और पुरुषों दोनों की ही सेक्स लाइफ बेहतर होती है।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 4 =

पाठको की राय