Thursday, February 20th, 2020

मैनिफेस्टो में जुड़ी आपकी मांग पूरी नहीं होगी तो उतरेंगे सड़कों पर: ज्योतिरादित्य सिंधिया


टीकमगढ़
कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की नाराजगी थमती नहीं दिख रही है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर गुरुवार को सिंधिया ने तल्ख टिप्पणी की थी. वहीं अब वो अपनी ही सरकार (मध्य प्रदेश सरकार) के खिलाफ सड़कों पर उतरने की बात कर रहे हैं. गुरुवार को एक कार्यक्रम में सिंधिया ने चुनावी मैनिफेस्टो में किए वादे को धार्मिक वाक्य मानने की बात कही. लगे हाथों उन्होंने सरकार द्वारा मांगें पूरी नहीं होने की स्थिति में जनता के साथ सड़क पर उतरने की भी चेतावनी दी.

 

टीकमगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने वहां मौजूद लोगों को उनकी सरकार का किया वादा पूरा कराने का भरोसा दिया है. सिंधिया ने कहा कि मैं आप लोगों को सुनिश्चित करना चाहता हूं कि आपकी मांग हमारी सरकार के मैनिफेस्टो में है और ये हमारे लिए किसी धार्मिक वाक्य की तरह है. उन्होंने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की. सिंधिया ने कहा कि अगर मैनिफेस्टो में जुड़ी आपकी मांग पूरी नहीं होगी तो आपको खुद को अकेला नहीं समझना. ज्योतिरादित्य सिंधिया भी आपके साथ (मांगों को पूरा कराने के लिए) सड़कों पर उतरेगा.

घोषणापत्र हमारे लिए धार्मिक ग्रंथसंत रविदास जयंती के अवसर पर टीकमगढ़ के कुडीला गांव में एक कार्यक्रम के दौरान सिंधिया ने कहा, 'मेरे अतिथि शिक्षकों को मैं कहना चाहता हूं. आपकी मांग मैंने चुनाव के पहले भी सुनी थीं. मैंने आपकी आवाज उठाई थी और ये विश्वास मैं आपको दिलाना चाहता हूं कि आपकी मांग जो हमारी सरकार के घोषणापत्र में अंकित है वो घोषणापत्र हमारे लिए हमारा ग्रंथ है.'

सब्र रखने की दी सलाह
उन्होंने अतिथि शिक्षकों को सब्र रखने की सलाह देते हुए कहा, 'अगर उस घोषणापत्र का एक-एक वाक्य पूरा न हुआ तो अपने को सड़क पर अकेले मत समझना. आपके साथ सड़क पर ज्योतिरादित्य सिंधिया भी उतरेगा. सरकार अभी बनी है, एक वर्ष हुआ है. थोड़ा सब्र हमारे शिक्षकों को रखना होगा. बारी हमारी आयेगी, ये विश्वास, मैं आपको दिलाता हूं और अगर बारी न आये तो चिंता मत करो, आपकी ढाल भी मैं बनूंगा और आपका तलवार भी मैं बनूंगा.'

Source : Agency

आपकी राय

9 + 9 =

पाठको की राय