Monday, April 6th, 2020

दिल्ली में मर्डरः दनादन दाग डालीं 50 गोलियां

नई दिल्ली
दिल्ली के रोहिणी जिले में एक बार फिर गैंगवार छिड़ने की आशंका है। बुधवार देर रात कंझावला इलाके में दो कारों में भरकर आए हथियारबंद बदमाशों ने स्कॉर्पियो सवार प्रॉपर्टी डीलर की अंधाधुंध गोलियां बरसाकर हत्या कर दी। हमलावरों के सिर पर किस कदर खूनी खेल हावी था, यह पुलिस को मौके पर मिले गोलियों के 50 से अधिक खोखे से पता चल रहा है। पुलिस जांच से पता चला कि 30 वर्षीय अंचिल ठाकुर को सिर, हाथ, सीने और पेट में बेहद नजदीक से करीब 30 गोलियां मारी गईं। घटना बुधवार रात करीब 9 बजे कंझावला चौक के नजदीक चलते हुए ट्रैफिक के बीच हुई।

पुलिस अफसर इस वारदात को गैंगवार का नतीजा बता रहे हैं। परिवार के साथ रोहिणी जिले के कराला गांव में रहने वाले अंचिल के खिलाफ पहले से आपराधिक मुकदमा दर्ज था। पुलिस के मुताबिक, गांव के ही एक युवक की अप्रैल 2019 में हत्या की कोशिश में वह जेल गया था। तीन महीने पहले ही जेल से बाहर आया था।
बीच सड़क हुए शूटआउट के पीछे पुलिस को दीपक तितर नाम के गैंगस्टर और उसके गुर्गों का हाथ होने का शक है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने दो शॉर्प शूटरों की पहचान की है। ये दोनों दीपक तितर गैंग के बदमाश हैं और हमलावरों की कार में सवार थे। इनकी तलाश में दिल्ली-एनसीआर के अलावा हरियाणा में छापेमारी की जा रही है।

मौत कन्फर्म की, तब गए
अंचिल अपनी स्कॉर्पियो कार से बुधवार रात जोंटी गांव में किसी से मिलकर वापस लौट रहा था। रात करीब 9 बजे कंझावला चौक के पास दो कारों में आए 8 बदमाशों ने उसकी कार ओवरटेक करके रुकवा ली। अंचिल कुछ समझ पाता, उससे पहले ही बदमाश उसकी कार को घेरकर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने लगे। करीब 50 गोलियां चलाने के बाद हमलावर तभी मौके से गए, जब उन्हें अंचिल की मौत का यकीन हो गया।

गुजरते रहे लोग
वारदात के समय रास्ते से गुजर रहे लोगों में से किसी ने रुकने की हिम्मत नहीं जुटाई। बीच सड़क पर स्कॉर्पियो काफी देर तक खड़ी रही। रास्ते से बसें और कारें गुजरती रहीं। अंचिल की हत्या को पुलिस जहां गैंगवॉर का नतीजा मानकर चल रही है, वहीं उसके परिवार ने रंजिश, रंगदारी और जान से मारने की पहले से धमकियां मिलने का आरोप लगाया है। सूत्रों के मुताबिक, परिवार का दावा है कि अंचिल पर 50 लाख रुपये रंगदारी देने का दबाव बनाया जा रहा था। वह विवादित प्रॉपर्टी का सौदा भी करने लगा था। इन सौदों को लेकर रंजिश भी बढ़ती जा रही थी। अंचिल व उसके पिता राजबीर को धमकियां मिल रही थीं।

50 लाख की रंगदारी का लिंक!
अंचिल की हत्या को पुलिस जहां एक ओर गैंगवार का नतीजा मान कर चल रही है। वहीं, परिवार ने एक नई जानकारी सामने लाकर पुलिस को चौंका दिया है। सूत्रों के मुताबिक, परिवार का दावा है कि अंचिल और उसके पिता राजबीर को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं। इसकी वजह, अंचिल को 50 लाख रुपये रंगदारी देने का दबाव बनाया जा रहा था। अंचिल ने स्थानीय प्रॉपर्टी के कारोबार में ठीक-ठाक मुनाफा कमाया था। सूत्रों का कहना है कि वह विवादित प्रॉपर्टी का सौदा भी करने लगा था। इसको लेकर उसकी रंजिश भी बढ़ती जा रही थी।

Source : Agency

आपकी राय

14 + 15 =

पाठको की राय