Monday, April 6th, 2020

मोदी से मिल उद्धव ठाकरे बोले, शाहीन बाग में भड़काया जा रहा

नई दिल्ली
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शपथ लेने के करीब 3 महीने बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आज दिल्ली स्थित उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। इस दौरान उद्धव के बेटे और राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे। इस मुलाकात के बाद उद्धव ने मीडिया को संबोधित किया और बताया कि पीएम मोदी से महाराष्ट्र के मुद्दों के अलावा सीएए, एनपीआर और एनआरसी को लेकर भी चर्चा हुई। महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि बैठक में पीएम मोदी ने साफ कहा कि देशवासियों को सीएए से डरने की आवश्यकता नहीं है।

सीएए से डरने की नहीं जरूरत, NRC सिर्फ असम में
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिवसेना सांसद संजय राउत और आदित्य ठाकरे भी उद्धव के साथ मौजूद थे। उद्धव ने बताया कि पीएम मोदी के साथ बैठक बेहद लाभदायी रही। पीएम ने भरोसा दिलाया है कि सीएए से किसी को डरने की जरूरत नहीं है और संसद में केंद्र सरकार ने स्पष्ट भी किया है कि एनआरसी पूरे देश में लागू नहीं होगी। उन्होंने कहा, ' एनपीआर, एनआरसी और सीएए पर भी पीएम मोदी से चर्चा हुई। 'सामना' के माध्यम से शिवसेना ने अपनी भूमिका स्पष्ट कर दी थी। सीएए पड़ोसी देशों के पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का कानून है। एनआरसी को लेकर केंद्र ने भूमिका स्पष्ट की है कि यह पूरे देश में नहीं है और असम में रहेगा।'

एनपीआर से नहीं छिनेगा अधिकार
उद्धव ने एनपीआर को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा, 'एनपीआर में किसी को घर से नहीं निकाला जाएगा। यह वैसे ही है, जैसे हर 10 साल पर जनगणना होती है।अगर हमें लगा कि एनपीआर खतरनाक है तो आगे बात होगी। मैंने राज्य की जनता से कहा है कि किसी का भी अधिकार नहीं छीनने दिया जाएगा।'

बोले, शाहीनबाग में लोगों को भड़काया जा रहा
उद्धव ठाकरे ने दिल्ली के शाहीनबाग में 2 महीने से ज्यादा वक्त से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन पर कहा कि वहां लोगों को भड़काया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'वहां लोगों से मिलने की जरूरत है। विरोध क्यों कर रहे हैं पहले यह स्पष्ट होना चाहिए। नेताओं को समझने की जरूरत होती है।' वहीं, जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि आपके मुताबिक शाहीनबाग में लोगों को भड़काया जा रहा है, जबकि आपकी सहयोगी कांग्रेस के नेता भी वहां पहुंचे हैं, आपको क्या लगता है कौन भड़का रहा है? इस सवाल पर बचते हुए उद्धव ने कहा, 'मुझे नहीं पता, मैं दिल्ली में नहीं रहता।'

पीएम मोदी से मिलने के बाद उद्धव ठाकरे ने 10 जनपथ जाकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। उल्लेखनीय है कि सीएम पद की शपथ लेने के बाद ठाकरे ने कहा था कि वह 'बड़े भाई' नरेंद्र मोदी से मिलने दिल्ली पहुंचेंगे। ठाकरे के ऑफिस ने मुलाकात के बाद तस्वीरें शेयर कर ट्वीट किया, 'उद्धव बालासाहेब ठाकरे ने दिल्ली में पीएम से आज शिष्टाचार मुलाकात की।' अक्टूबर 2019 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के बाद भी सरकार नहीं बना पाई थी।

सीएम पद को लेकर पूर्व सहयोगी शिवसेना से सहमति न बन पाने के कारण उसे सत्ता से दूर रहना पड़ा। बाद में शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाई। इस दौरान बीजेपी और शिवसेना नेताओं के बीच वाकयुद्ध देखने को भी मिला। शिवसेना और बीजेपी के राजनीतिक संबंध चाहे जैसे रहे हों, लेकिन पीएम मोदी और उद्धव ठाकरे के आपसी रिश्ते अच्छे बताए जाते हैं।

 

Source : Agency

आपकी राय

8 + 3 =

पाठको की राय