Monday, April 6th, 2020

DRDO की इस खोज से होगी ट्रंप की पहरेदारी

नई दिल्ली
इस वक्त पूरी दुनिया में ड्रोन के जरिए अटैक करने का चलन चला हुआ है। भारत ड्रोन से किए जाने वाले हमलों को निष्क्रिय करने में सक्षम हो गया है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने एक स्वदेशी एंटी-ड्रोन प्रणाली विकसित की है, जो ऐसे ड्रोन को सफलतापूर्वक नष्ट करने में सक्षम हैं। डीआरडीओ की ओर से किए गए परीक्षण में यह तकनीक पूरी तरह पास हुई है।

ट्रंप की सुरक्षा में तैनात होगा
खास बात यह है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा में इस तकनीक को आजमाया जाएगा। इस तकनीक का इस्तेमाल वायु सेना, सेना, अर्धसैनिक बल सहित लगभग सभी सुरक्षा एजेंसियां इस तकनीक का प्रयोग कर रही हैं। खासकर वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा के दौरान भी एंटी ड्रोन सिस्टम का इस्तेमाल किया जाना शुरू कर दिया गया है।

हाल के दिनों में ड्रोन के जरिए छोटे हथियारों और नशीले पदार्थों की तस्करी करने के भी मामले सामने आए हैं। क्योंकि ड्रोन 3-4 किलोग्राम तक के सामान को लेकर उड़ने में सक्षम होते हैं।

आसमान में ड्रोन को तलाशने में भी सक्षम है यह तकनीक
सरकार के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में बताया कि एंटी ड्रोन सिस्टम ने परीक्षण के दौरान ड्रोन को सफलतापूर्वक निष्प्रभावी कर दिया। साथ ही यह आस-पास की एरिया में उड़ने वाले ड्रोन का पता लगाकर उसे नष्ट करने में भी सक्षम साबित हुआ है।

वीवीआईपी सुरक्षा में कारगर है यह तकनीक
डीआरडीओ के इस काउंटर ड्रोन सिस्टम का पहली बार ब्राजली के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो के भारत दौरे के दौरान किया गया था। जायर भारत के 71वें गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि थे। परेड के दौरान जायर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद थे, इन सबकी सुरक्षा में डीआरडीओ के काउंटर ड्रोन सिस्टम को तैनात किया गया था।

तस्कर भी ड्रोन का करते रहे हैं प्रयोग
अब जब अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को अहमदाबाद में रोडशो करेंगे उस दौरान गुजरात पुलिस इस एंटी ड्रोन सिस्टम के जरिए सुरक्षा को चाक-चौबंद करेगी।

सूत्रों का कहना है कि पंजाब और जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती इलाके में ड्रोन के जरिए पाकिस्तान आतंकियों को हल्के हथियारों की सप्लाई करता है। सीमा सुरक्षा बल ने डीआरडीओ की इस खोज की मदद से कई मौकों पर पाकिस्तान के इन ड्रोन को मार गिराया है।

Source : Agency

आपकी राय

1 + 6 =

पाठको की राय