Saturday, April 4th, 2020

कोरोना से डरा अंडरवर्ल्ड भी, सरगना नहीं कर रहे उगाही के फोन

  मुंबई
क्या कोरोना वायरस के खौफ से अंडरवर्ल्ड भी डर गया है? यदि मुंबई पुलिस के दावों पर यकीन करें, तो पिछले कई दिनों से सरगनाओं के फोन आने एकदम बंद हो गए हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच के हफ्ता निरोधक प्रकोष्ठ के चीफ अजय सावंत ने एनबीटी से कहा कि इन दिनों मुंबई में भाईगिरी एकदम बंद है। देश और विदेश कहीं से भी मुंबई के व्यापारियों को फोन नहीं आ रहे हैं।

अजय सावंत इन दिनों डॉन एजाज लकड़ावाला से जुड़े कई केसों का इनवेस्टिगेशन कर रहे हैं। लकड़ावाला को जनवरी महीने में पटना से गिरफ्तार किया गया था। तब तक चीन में कोरोना के कई केस सामने आ चुके थे, लेकिन भारत में इस बीमारी की दहशत नहीं थी।
लकड़ावाला की गिरफ्तारी के कुछ दिनों बाद दूसरे डॉन रवि पुजारी को सेनेगल से भारत डिपोर्ट कर दिया गया था, लेकिन मुंबई में उगाही के कॉल्स कम नहीं हुए। एक और डॉन प्रसाद पुजारी मुंबई के कई बिल्डरों को धमकाता रहा। उसने शिवसेना के एक नेता पर गोलियां चलवाईं और उसी दौरान विक्रोली के एक बिल्डर से दस लाख रुपये का हफ्ता मांगा। कई बिल्डरों को उसने एक करोड़ रुपये तक की उगाही के भी फोन किए, लेकिन अब उसकी भी जुबान बंद है।

क्राइम ब्रांच सूत्रों का कहना है कि मुंबई में पिछले करीब एक सप्ताह से लॉकडाउन है। व्यापारियों का बिजनेस ठप्प है। प्रसाद पुजारी, सुदेश पुजारी व कई अन्य सरगनाओं को पता है कि कितनी भी धमकी के कॉल्स कर लें, लेकिन उन्हें अब रकम मिलने वाली नहीं है। मुंबई में कई व्यापारियों को जेल में बैठे सरगनाओं द्वारा भी फोन किए जाते रहे हैं। कुछ दिनों पहले उदय पाठक नामक डॉन ने कुरार के दो व्यापारियों से पांच करोड़ रुपये मांगे थे। लेकिन अब जेल से भी धमकियां नहीं आ रही हैं।

प्रसाद पुजारी विदेश में कहां है, मुंबई पुलिस को भी इसकी जानकारी नहीं। लेकिन एक अधिकारी के अनुसार, वह पाकिस्तान में बिल्कुल भी नहीं है, जहां दाऊद, अनीस इब्राहिम, छोटा शकील, फहीम मचमच जैसे डी कंपनी के सरगना छिपे हुए हैं। वैसे, कोरोना वायरस पाकिस्तान के भी कई शहरों में फैल चुका है।

Source : Agency

आपकी राय

13 + 5 =

पाठको की राय