Thursday, June 4th, 2020

भोपाल में महिला पुलिसकर्मियों ने बनाई रसोई ब्रिगेड, एडिशनल एसपी ने संभाली रसोई की कमान

भोपाल
देशव्यापी महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. कई लोग ऐसी जगहों में फंस गये हैं जहां उन्हें खाने की सामग्री जुटाने में काफी दिक्कत हो रही है. ऐसे में राजधानी भोपाल में महिला पुलिस कर्मियों ने लोगों की मदद के लिये रसोई ब्रिगेड बनाई है, तो उमरिया की एक महिला एडीशनल एसपी ने खुद रसोई की कमान संभाल ली है. अपनी ड्यूटी के साथ यह सभी महिला पुलिस अधिकारी और कर्मचारी अपने हाथों से रसोई चला रही हैं.

निशातपुरा थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर उर्मिला यादव,आरक्षक दीपमाला और सारिका साहू ने मिलकर रसोई ब्रिगेड तैयार की है. थाना निशातपुरा परिसर में रसोई ब्रिगेड सुबह-शाम भोजन तैयार कर रही हैं. इस रसोई में महिला पुलिस कर्मी थाना स्टाफ की मदद से ड्यूटी पर तैनात 115 पुलिसकर्मियों के लिए रोज दोनों वक्त का खाना तैयार करती हैं.

उमरिया जिले में पदस्थ एडिशनल एसपी रेखा सिंह किसी जनसहयोग से नहीं और न ही ही अपने स्टाफ से खाना बनवा रही हैं. उन्होंने एक मां की तरह रसोई की जिम्मेदारी खुद संभाली और खुद ही खाना बनाकर मजदूरों की मदद कर रही हैं. रेखा सिंह सब्जी में तड़के से लेकर चावल को पकाने तक किचन में खड़ी रहती हैं. पूरी भी उनकी हाथों से होकर गुजरती है. किचन का हर एक समान उनकी निगरानी में आता है और खाने में वह कोई कंप्रोमाइज नहीं करती हैं. उनके हाथ का खाना उनके घर के खाने की तरह ही रहता है.

उनका स्टाफ भी अब उनका हाथ बंटाने लगा है. अपने ऑफिस के परिसर में ही उन्होंने इस अनोखी रसोई को तैयार किया और अब हर रोज यहां से बड़ी संख्या में मजदूरों को खाना पहुंचाने का और उनके ऑफिस में आए मजदूरों को खाना खिलाने का काम किया जा रहा है. रेखा लॉकडाउन में अपनी ड्यूटी के दौरान एक कड़क पुलिस अधिकारी के रूप में नजर आईं तो जब आर्थिक रूप से कमजोर लोगों एवं श्रमिकों को भोजन के लिए परेशान देखा तो एक संवेदनशील भारतीय नारी बन गईं. वे अपने पद को एक किनारे रखकर कुशल गृहणी की तरह भोजन बनाने में जुट गईं. अपने स्‍टॉफ के सहयोग से भोजन तैयार कर उन्‍होंने जरूरतमंदों तक पहुंचाया. पुलिस का यह रूप देखकर श्रमिकों की आंखे छलक आईं और वे पुलिस का शुक्रिया अदा करते नहीं थक रहे थे.

Source : Agency

आपकी राय

6 + 8 =

पाठको की राय