Thursday, July 2nd, 2020
Close X

कुछ चीजों का ध्यान रखा बॉस को करें खुश

नौकरी करने वाला हर शख्स इस बात से इत्तेफाक रखता होगा कि बॉस के साथ अच्छी ट्यूनिंग बने रहना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए हर कर्मचारी अलग-अलग तरीका अपनाता है। हालांकि, कुछ तरीके ऐसे भी हैं, जो हर तरह के बॉस पर जरूर काम करते हुए एंप्लॉयी को बेहतर करियर बनाने में मदद करते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही 7 तरीकों के बारे में:

अपने मैनेजर को समझें
हर मैनेजर अलग होता है। इस वजह से काम को हैंडल करने का उनका तरीका भी अलग-अलग ही होता है। सबसे पहले अपने मैनेजर के वर्क पैटर्न को समझने की कोशिश करें। इससे आपको उनके दिए गोल्स और अपेक्षाएं समझने में मदद मिलेगी। जब ऐसा होगा तो आप भी गोल अचीव करने के लिए ऐसी स्ट्रैटजी प्लान कर सकेंगे, जो बॉस के वर्क नेचर के अनुरूप हो।

कम्यूनिकेशन
किसी भी रिश्ते का यह सबसे अहम पार्ट होता है। बॉस से भी कम्यूनिकेशन बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। गोल्स और टारगेट को लेकर उन्हें लगातार चीजें कम्यूनिकेट करते रहें, जिससे उन्हें भी आपकी प्रोग्रेस और उसमें आ रही अड़चन का अंदाजा रहे। ऐसे में अगर आप किसी मुश्किल में फंस भी जाते हैं, तो आपके बॉस को आपकी मदद करने में आसानी होगी।


छोटी-छोटी बातों के लिए न करें परेशान
माना कि आपका बॉस आपकी मदद के लिए हमेशा मौजूद होता है, लेकिन छोटी-छोटी परेशानियां लेकर उनके पास न जाएं। अपने लेवल पर चीजों को समझने व सुलझाने की कोशिश करें। अगर आपको लगे कि वह चीज आगे चलकर बड़ा इशू बन सकती है, तो उस स्थिति में जरूर अपने बॉस को सूचित करें।

जिम्मेदारी पूरी करना
अगर आपको कोई जिम्मेदारी दी गई है, तो उसे जरूर पूरा करें। इससे भागने या फिर बहाने बनाने की कोशिश न करें। यह बॉस पर गलत इम्प्रेशन छोड़ते हुए आपको मुश्किल में डाल सकता है। बेहतर है कि अपना 100% दें और दिए गए काम को पूरा करें।

काम से जुड़ी चीजों के बारे में जानकारी रखना
कई बार ऐसा होता है कि किसी मुद्दे पर बॉस अपनी टीम की राय लेता है। इस सिचुएशन में अगर आपको काम से जुड़ी जानकारी होगी, तो आप आसानी से जवाब दे सकेंगे। अगर आप जवाब नहीं दे सके, तो यह आपके लिए नेगेटिव मार्किंग की तरह हो सकता है। हालांकि, इस स्थिति में आप यह जरूर कर सकते हैं कि आप बॉस से कुछ समय की मौहलत लें ताकि आप उस विषय के संबंध में जानकारी जुटा सकें और इसके बाद उन्हें वह इंफो पास करें।

राय स्पष्ट रखना
ऐसे कर्मचारी न बनें, जिसकी किसी मुद्दे पर एक राय न हो। ऐसे लोगों को समझना काफी मुश्किल होता है। बॉस भी ऐसे कर्मचारी से डील करने से बचेगा क्योंकि उसे यही समझ नहीं आएगा कि एंप्लॉयी का गोल क्या है और वह किस तरह चीजों को लेकर सोचता है? इस वजह से वह उसे कोई जिम्मेदारी देने से भी बचेगा।

मेहनत करते रहना
यह पॉइंट किसी भी एंप्लॉयी के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। कोई व्यक्ति तारीफों के बल पर बॉस का थोड़ा फेवर तो पा लेगा, लेकिन अंत में काउंट सिर्फ उसका काम ही होगा। अगर आप ईमानदारी और मेहनत से अपने काम को करते हैं, तो इसे बॉस का ही नहीं आपके साथियों का भी रेकिग्निशन जरूर मिलेगा।

Source : Agency

आपकी राय

13 + 9 =

पाठको की राय