Saturday, July 4th, 2020
Close X

तिहाड़ जेल में गैंगवार, कैदी ने चाकू और सुएं से गोदकर हत्या की

नई दिल्ली
तिहाड़ जेल में एक कैदी ने दूसरे कैदी की चाकू और सुएं जैसे नुकीले हथियार से हत्या कर दी। उसकी गर्दन पर चाकू जैसे हथियार के पांच-छह वार किए गए। गर्दन की नसें फट जाने से कैदी की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। वारदात सोमवार सुबह उस वक्त हुई। जब कैदियों को जेल से लॉक-आउट करने का समय हो रहा था। उसी दौरान एक कैदी ने दूसरे कैदी पर घात लगाकर हमला कर दिया। माना जा रहा है कि उसने इसकी पहले से ही तैयारी कर रखी थी। तभी उसने लोहे की एक पत्ती को घिस-घिसकर नुकीला बना दिया था।

रेप के आरोप में सजा काट रहा था मृतक
जेल प्रशासन का कहना है कि यह दो कैदियों के बीच हुआ झगड़ा था। इसमें गैंगवॉर वाली बात नहीं है। तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने बताया कि मृतक कैदी का नाम मोहम्मद महताब (27) है। जबकि इसकी हत्या करने वाले आरोपी कैदी का नाम जाकिर (21) है। उन्होंने बताया कि मृतक रेप के एक मामले में महताब गिरफ्तार होकर 2014 में जेल में आया था। इसके खिलाफ आंबेडकर नगर थाना इलाके का एक मामला दर्ज था। उसी मामले में इसे जेल में बंद किया गया था।

आरोपी हत्या के आरोप में बंद था
जबकि आरोपी जाकिर को जैतपुर थाना पुलिस ने हत्या के एक मामले में पकड़ा था। इसे 2018 में जेल में लाया गया था। पहले यह जेल नंबर-5 में बंद था। हाल ही में इसे जेल नंबर-5 से जेल नंबर-8/9 में शिफ्ट किया गया था। इसी जेल में यह वारदात हुई। जेल प्रशासन का कहना है कि अभी तक की जांच में पता लगा है कि इन दोनों की पहले से ही किसी बात को लेकर कोई दुश्मनी चल रही थी। इसी के चलते इनमें झगड़ा हुआ और एक ने दूसरे की हत्या कर दी।

आरोपी पर एक और हत्या का मामला दर्ज
जेल प्रशासन ने बताया कि मामले की सूचना वेस्ट दिल्ली की हरि नगर थाना पुलिस को दी गई है। आरोपी पहले से ही जेल में बंद है। इसके खिलाफ हत्या का एक और मामला दर्ज किया गया है। मामले में तमाम पहलूओं की जांच की जा रही है। जेल प्रशासन का कहना है कि सोमवार सुबह जब जाकिर ने महताब पर हमला किया। तब अपनी जान बचाने के लिए महताब ने शोर मचाया था। वहां मौजूद जेल स्टाफ ने उसे बचाने की कोशिश भी की थी। लेकिन जब तक आरोपी महताब की गर्दन पर सुएं जैसे हथियार से कई वार कर चुका था।

इलाज के दौरान हुई मौत
पहले महताब को जेल डिस्पेंसरी में ले जाकर इलाज किया गया। लेकिन मामला गंभीर होने पर उसे तुरंत डीडीयू अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

Source : Agency

आपकी राय

14 + 3 =

पाठको की राय