Saturday, July 4th, 2020
Close X

बिहार में गंगा नदी ने थामी पानी बढ़ने की रफ्तार, ये चार नदियां अब भी खतरे के निशान से ऊपर

पटना 
कई दिनों से लगातार वर्षा होने के बाद भी गंगा ने राज्य की नदियों के चढ़ने की रफ्तार थाम रखी है। इसके बावजूद राज्य की चार प्रमुख नदियां अब भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। कोसी, बागमती, कमला बलान और महानंदा नदियां लगभग छह स्थानों पर लाल निशान से ऊपर हैं। राज्य में सोमवार को लगभग एक दर्जन स्थानों पर 50 मीमी से अधिक वर्षा हुई।
   
बीते वर्ष बाढ़ के समय तबाही मचाने वाली कमला बलान नदी सोमवार को जयनगर और झंझारपुर दोनों जगह लाल निशान से ऊपर हैं। हालांकि रविवार की तुलना में इसका जलस्तर थोड़ा नीचे आया है। इसके बावजूद जयनगर में तीस सेमी और झंझारपुर में पांच सेमी लाल निशान से ऊपर है। बागमती तो तीन जगहों पर चढ़ी हुई है। ढेंग पुल के पास इसका जलस्तर 39 तो रून्नीसैदपुर में 66 सेमी ऊपर बह रही है। बेनीबाद में भी यह नदी 20 सेमी लाल निशान से ऊपर है।  कोसी बसुआ में खतरे के निशान से 43 सेमी ऊपर है तो बालतारा में इसका जलस्तर 60 सेमी ऊपर है। महानंदा नदी ढेगराघाट में 105 सेमी तो पूर्णिया में 52 सेमी ऊपर बह रही है। 

राज्य में गंगा सोमवार को इलाहाबाद से भागलपुर तक सभी जगहों पर चढ़ी है। लेकिन पटना में अब भी यह नदी लाल निशान से काफी नीचे बह रही है। कोसी नदी का डिस्चार्ज भी थोड़ा बढ़ा है। बराह क्षेत्र में तो डिस्चार्ज एक लाख घनसेक से नीचे है लेकिन बराज के पास डिस्चाई लगभग डेढ़ लाख है। पुनपुन, लालबकेया और अधवारा समूह की नदियां अभी अपनी सीमा से ऊपर नहीं चढ़ी हैं। 

Source : Agency

आपकी राय

10 + 4 =

पाठको की राय