Saturday, July 4th, 2020
Close X

फ्रांस ने भारत की तरफ बढ़ाया हाथ, गलवान घाटी के शहीदों को दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली
भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के बीच फ्रांस ने भारत की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है। फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ले ने कहा गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हुए भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ से मिलने की इच्छा जताई है। उन्होंने सोमवार को रक्षा मंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा है कि वह दोनों के बीच जारी बातचीत पूरी करने को इच्छुक हैं। पर्ले ने कहा कि भारत और फ्रांस अच्छे दोस्त हैं। उन्होंने लिखा कि राजनाथ सिंह के निमंत्रण पर वह उनसे मिलने को तैयार हैं और बाकी की बची बातचीत को पूरी करना चाहती हैं। उन्होंने अपने पत्र में गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय जवानों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की। उन्होंने लिखा, 'यह जवानों, उनके परिवारवालों और देश के लिए एक झटका है। इस मुश्किल घड़ी में मैं दोस्त भारत के प्रति फ्रांस सेना की तरफ से दोस्ती प्रकट करती हूं। मैं आपसे आग्रह करती हूं कि आप मेरी श्रद्धांजलि पूरी भारतीय सेना और शहीदों के परिवारवालों को दें।'

बता दें कि भारत फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीदने का सौदा कर चुका है। 27 जुलाई को अंबाला एयरबेस में भारत को 6 राफेल विमान मिलने वाले हैं। बता दें कि पहले केवल 4 लड़ाकू विमान ही आने वाले थे लेकिन अब फुली लोडेड 6 राफेल आएंगे। भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के बीच यह काफी अहम माना जा रहा है।  झील के किनारे पर मौजूद पहाड़‍ियों को फिंगर्स कहते हैं। भारत के मुताबिक, फिंगर 1 से 8 तक पैट्रोलिंग का अधिकार उसके पास है जबकि चीन फिंगर 4 तक अपना इलाका मानता है। फिंगर 4 के पास दोनों सेनाएं कई बार भिड़ चुकी हैं। इस वक्‍त चीनी सेनाएं फिंगर 4 पर मौजूद हैं और उन्‍होंने पीछे अच्‍छी-खासी स्‍ट्रेन्‍थ तैयार कर ली है।
 

Source : Agency

आपकी राय

13 + 11 =

पाठको की राय