Friday, August 7th, 2020
Close X

आज से शुरू होने वाली पूजा टली, अब मंगलवार से होगी शुरुआत

अयोध्या
अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन 5 अगस्त को होने जा रहा है. इस कार्यक्रम की शुरुआत 4 अगस्त मंगलवार को हनुमानगढ़ी से होगी. इस दौरान भगवान हनुमान जी के निशान की पूजा होने जा रही है. मान्यताओं के अनुसार हनुमान अयोध्या के अधिष्ठाता हैं, इसलिए उनके निशान की पूजन के साथ ही निर्माण कार्य शुरू होगा. इस पूजन के दौरन राम मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे. पहले यह कार्यक्रम आज यानि रविवार 2 अगस्त को सुबह 10 बजे होना था लेकिन लॉकडाउन के कारण इसे टाला गया. अब यह आयोजन 4 अगस्त को सुबह 8 बजे होगा.

बता दें कि 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर की शिला रखेंगे. इस दौरान पीएम मोदी हनुमानगढ़ी मंदिर भी आएंगे. हनुमानगढ़ी के मुख्य पुजारी महंत राजू दास ने रविवार को बताया, "5 अगस्त को प्रधानमंत्री भूमिपूजन के लिए आ रहे हैं, उन्होंने तय किया है कि पहले वो हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे. यहां विशेष पूजा की व्यवस्था रहेगी. हमें 7 मिनट दिए गए हैं इसमें प्रधानमंत्री का आना-जाना शामिल है, करीब 3 मिनट पूजा में लगेंगे."

भूमि पूजन के लिए तैयारियां जोरों पर है. अयोध्या जिले में 5 अगस्त को राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि-पूजन में बीजेपी के वरिष्ठ व दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी शामिल नहीं हो सकेंगे.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने उन्हें आमंत्रित किया, लेकिन दोनों ही नहीं जा सकेंगे. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए समारोह में शामिल कराया जाएगा. ट्रस्ट की ओर से फोन किया गया. ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय की ओर से पत्र भी भेजा जा रहा है.

बताते चले कि आयोजन के लिए मेहमानों की सूची को लेकर जो कयास लगाए जा रहे थे उनमें से एक मेहमान के पहुंचने की तो पुष्टि हो चुकी है. राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाली बीजेपी की फायर ब्रांड नेता उमा भारत ने 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन में शामिल होने की पुष्टि कर दी है. यानि इस आयोजन में भाग लेने वाले नेताओं में उमा भारती को न्योजा दिए आने के जो कयास लगाए जा रहे थे वो सही थे.

Source : Agency

आपकी राय

3 + 12 =

पाठको की राय