Monday, September 28th, 2020
Close X

बंजर पहाड़ियों पर आकार लेने लगा है जंगल

भोपाल

पशुपालन और सामाजिक न्याय मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने सांसद डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी के साथ रेवाकुंज पहाड़ी पर त्रिवेणी पौधा रोपा। पहाड़ी को हरा-भरा करने की निरंतर कोशिश में बड़वानी कलेक्टर के साथ स्थानीय युवा, शासकीय कर्मचारी-अधिकारी और व्यापारी आदि भी अपनी सहभागिता सुनिश्चित करते हुए पौधों की देखभाल और संरक्षण कर रहे हैं। पहाड़ी के निचले भाग में लगभग 5 हजार नीम के पौधे आकार ले चुके हैं। पटेल ने कहा कि क्षेत्र को हरा-भरा बनाने के लिये हरसंभव मदद की जायेगी।

बड़वानी जिले की बंजर पहाड़ियों पर नीचे नीम लगाने के बाद अब त्रिवेणी (बरगद, पीपल और नीम एक साथ) रोपी जा रही है। वन विभाग तकनीकी सहयोग, कृषि विभाग द्वारा खाद, उद्यानिकी द्वारा ड्रिप इरीगेशन, आम लोगों द्वारा संरक्षण और सहयोग से यहाँ बंजर भूमि में सुखद परिवर्तन आ रहा है। बंजर सरस्वती पहाड़ी पर नीम, करंज, आँवला, बरगद, पीपल आदि के पौधे अब 10-10 फीट के हो चले हैं। विकसित जंगल आने वाली पीढ़ी को पर्यावरणीय संतुलन के साथ पानी की समस्या का भी समाधान करेगा। इस क्षेत्र की पहाड़ियों पर लगभग 15 हजार पौधे रोपे जा चुके हैं। रविवार 9 अगस्त को ग्रामवासियों के सहयोग से लोनसरा की पहाड़ी पर लगभग एक हजार पौधे रोपे जायेंगे।

उल्लेखनीय है कि पूर्व मंत्री अंतर सिंह आर्य द्वारा नीम की बहुतायत होने के कारण निमाड़ नाम प्राप्त क्षेत्र को पुन: खोया गौरव लौटाने के लिये यह मुहिम शुरू की गई थी। यह मुहिम आज रंग लाने लगी है। आर्य ने क्षेत्र के गाँव-गाँव में बालों और बिना बालों वाले सिर पर पानी डालकर ग्रामीणों को पानी रोकने में वृक्षों की महत्ता समझाई थी। उन्होंने केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से बात करने के साथ ही सभी सांसद, विधायक और जन-प्रतिनिधियों से भी इस मुहिम से जुड़ने की अपील की थी।

Source : Agency

आपकी राय

5 + 11 =

पाठको की राय