Friday, September 25th, 2020
Close X

लहठी बनी मुजफ्फरपुर की पहचान, वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना में शामिल

मुजफ्फरपुर
शाही लीची के बाद लहठी ने भी मुजफ्फरपुर को विशिष्ट पहचान दी है। इसलिए केंद्र सरकार की वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना में यहां की लहठी को भी शामिल किया गया है। इस योजना में शामिल उत्पादों को आगे बढ़ाने के लिए एमएसएमई मंत्रालय ने विस्तृत कार्ययोजना बनाई है।
एमएसएई मंत्रालय की पहल से लहठी उद्योग व कारोबार से जुड़े जिले के 50 हजार लोगों की उम्मीदें बंधी हैं। केंद्र का एमएसएमई व राज्य का उद्योग विभाग वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट में शामिल उत्पादों को आगे बढ़ाएगा। पहले से चल रहे लहठी उद्योग का विस्तार किया जाएगा। कारोबार को बढ़ावा देने के लिए बिजनेस लोन के रूप सरकार मदद करेगी। आत्मनिर्भर भारत, प्रधानमंत्री मुद्रा लोन और प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना आदि के माध्यम लहठी के क्षेत्र में अधिक से अधिक स्वरोजगार व कारोबार को बढ़ावा दिया जाएगा। महिला उद्यमियों व कारोबारियों पर अधिक जोर होगा। अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धा करने के लिए लठही की गुणवत्ता व डिजायन आदि पर बेहतर काम होगा।

प्रतिवर्ष 50 करोड़ से अधिक का व्यवसाय
इस्लामपुर के लठही व्यवसायी मो. फिरोज ने बताया कि शहर के इस्लामपुर, रामबाग, पंखाटोली, मनियारी, बोचहां व करजा आदि इलाकों के दर्जनों गांवों में घर-घर लहठी तैयार की जाती है। इससे पांच सौ से अधिक छोटे-बड़े व्यवसायी जुड़े हैं। 15 हजार से अधिक कारीगर हैं। 50 हजार लोगों की आजीविका लहठी से जुड़ी है। मुजफ्फरपुर में प्रतिवर्ष 50 करोड़ से अधिक का व्यवसाय होता है। सरकार के स्तर से मदद मिलने से लहठी उद्योग आगे बढ़ेगा।

ऐश्वर्या राय व अंजलि तेंदुलकर के हाथों में भी सजी
मुजफ्फरपुर में बनी लहठी फिल्म अभिनेत्री ऐश्वर्या राय व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की पत्नी अंजलि तेंदुलकर के हाथों की भी शोभा बढ़ा चुकी है। अभिषेक बच्चन से शादी के दौरान उन्हें सौगात के रूप में लहठी भेंट की गई थी। मुजफ्फरपुर की लहठी ने देश के अलावा विदेशों में भी दस्तक दी है। शादी व त्योहारों में शगुन के तौर पर लहठी दी जाती है। खासतौर पर महिलाएं परदेस में रह रहे रिश्तेदारों को उपहार के रूप में लहठी देती हैं।

एमएसएमई मंत्रालय की वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना में लहठी शामिल होने से स्थानीय उद्यमियों व कारोबारियों को कई फायदे होंगे। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट में शामिल उत्पादों के उत्पादन, क्वालिटी व मार्केटिंग बढ़ाए जाने के लिए कई जरूरी कदम उठाए गए हैं।
-पीके सिन्हा, जीएम, जिला उद्योग केंद्र

Source : Agency

आपकी राय

8 + 10 =

पाठको की राय