Thursday, December 3rd, 2020
Close X

282 अंको की तेजी के साथ बंद हुआ सेंसेक्स, दर्ज की साप्ताहिक तेजी

मुंबई
 मिश्रित वैश्विक संकेतों के बीच बैंकिंग, वित्त व दूरसंचार शेयरों में अच्छी मांग देखने को मिली। इससे घरेलू शेयर बाजार एक दिन की गिरावट के बाद शुक्रवार को पुन: तेजी की राह पर लौट आये। कारोबारियों ने कहा कि मजबूत होते रुपये और विदेशी निवेशकों के जारी निवेश ने भी घरेलू शेयर बाजारों को समर्थन दिया। बीएसई30 सेंसेक्स 282.29 अंक यानी 0.65 प्रतिशत चढ़कर 43,882.25 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह, एनएसई का निफ्टी 87.35 अंक यानी 0.68 प्रतिशत बढ़कर 12,859.05 पर पहुंच गया। सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फिनसर्व सर्वाधिक 9.13 प्रतिशत की तेजी में रहा। इसके अलावा टाइटन, बजाज फाइनेंस, कोटक बैंक, भारती एयरटेल, नेस्ले इंडिया, एनटीपीसी और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में भी तेजी रही। भारती इंफ्राटेल और इडस टावर्स के द्वारा एक बड़ी टावर कंपनी बनाने के लिये विलय का सौदा पूरा करने की घोषणा के बाद भारती एयरटेल के शेयर में 3.18 प्रतिशत की तेजी रही। दूसरी ओर, रिलायंस इंडस्ट्रीज, इंडसइंड बैंक, सन फार्मा, एक्सिस बैंक, ओएनजीसी और एचयूएल के शेयर 3.72 प्रतिशत तक की गिरावट में रहे। अवकाश प्रभावित सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 439.25 अंक यानी 1.01 प्रतिशत और निफ्टी 139.10 अंक यानी 1.09 प्रतिशत की तेजी में रहा। रिलायंस सिक्योरिटीज में रणनीति प्रमुख बिनोद मोदी ने कहा, ‘‘मिश्रित वैश्विक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजारों में तेजी आयी। चुनिंदा सरकारी बैंकों के निजीकरण में कॉरपोरेट व विदेशी बैंकों को भागीदारी देने पर सरकार के द्वारा विचार करने की खबर ने भी बाजार को तेजी दी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इनके अलावा मिडकैप व स्मॉलकैप में खरीदारी से भी बाजार को बल मिला।’’ बीएसई के समूहों में टेलीकॉम, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, पावर, फाइनेंस, टेक, यूटिलिटीज, बैंक्स और एफएमसीजी में 4.73 फीसदी की तेजी दर्ज की गयी। ऊर्जा गिरावट में रहने वाला एकमात्र समूह रहा। मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक 1.22 फीसदी तक चढ़े। कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष (पीसीजी रिसर्च) संजीव जरबड़े ने कहा, ‘‘दिवाली के सप्ताह में बीएसई सेंसेक्स करीब एक प्रतिशत तक मजबूती में रहा। तिमाही परिणाम का सत्र समाप्त होने के साथ ही अब निवेशकों का ध्यान आर्थिक सुधार व बाजार मूल्यांकन पर रहेगा।’’ उन्होंने कहा कि भारत में संक्रमण के मामलों में पुन: तेजी आने से जोखिम बढ़ रहा है।एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांग कांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कोस्पी बढ़त में रहे। जापान का निक्की गिरावट में रहा। यूरोपीय बाजार शुरुआत में चल रहे थे। ब्रेंट क्रूड वायदा 0.41 प्रतिशत बढ़कर 44.38 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था। रुपया 11 पैसे की बढ़त के साथ 74.16 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने बृहस्पतिवार को 1,180.61 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी की।

Source : Agency

आपकी राय

10 + 2 =

पाठको की राय