Tuesday, April 13th, 2021
Close X

बिना सर्जरी के फ्लॉलेस स्किन पाने के ये 5 आसान मेडिकल ट्रीटमेंट्स

 


सिलेब्रिटीज की तरह दिखने की चाह हर किसी की होती है। लेकिन हर किसी के पास उतना अपनी केयर के लिए जरूरी समय और पैसा नहीं होता है। साथ ही सिलेब्रिटीज अपनी त्वचा को ग्लोइंग और युवा बनाए रखने के लिए कई तरह के मेडिकल ट्रीटमेंट्स का सहारा लेते हैं। जो कि किसी आम इंसान के लिए बहुत ही मुश्किल काम है।
आज हम आपके लिए यहां ऐसे 5 खास और आसान मेडिकल ट्रीटमेंट्स से जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं, जिनके जरिए आप बिना सर्जरी के सिलेब्रिटीज जैसी शानदार त्वचा पा सकते हैं। साथ ही लंबे समय तक आपकी त्वचा में वही रूप और रंगत बनी रहेगी, जैसी आपके लेट 20's में रही होगी...

एक्वा गोल्ड फाइन टच फेशियल
एक्वा गोल्ड फाइन टच फेशियल (Aqua gold fine touch facial) एक लक्जरी 24-कैरेट गोल्ड फेशियल डिवाइस है, जिसके माध्यम से किसी व्यक्ति की त्वचा में उसकी जरूरत के अनुसार पर्सनलाइज्ड कॉकटेल्स बोटॉक्स के माइक्रोडोजेज के साथ दिए जाते हैं। इससे चेहरे और त्वचा की रंगत पूरी तरह बदल जाती है। चेहरा भरा हुआ और त्वचा हाइड्रेटेड तथा ग्लोइंग बन जाती है।

फोटोफेशियल है कमाल की तकनीक
फोटोफेशियल तकनीक के जरिए त्वचा के टेक्सचर और उसके टोन को बेहतर बनाया जाता है। यह तकनीक आपकी त्वचा पर इतनी बारीकी से काम करती है कि आपकी त्वचा के वे पोर्स यानी रोम छिद्र जिनका आकार बढ़ गया था, वे भी नजर आने बंद हो जाते हैं।
फोटोफेशियल तकनीक में तीव्र स्पंदित प्रकाश ( Intense Pulsed Light)विधि का उपयोग करके, त्वचा पर बढ़ती उम्र के निशानों को उभरने से रोका जाता है। इस तकनीक में भी आपको किसी तरह सर्जरी नहीं करानी पड़ती है और आपकी त्वचा किसी सिलेब्रिटी की तरह ग्लो करने लगती है।

प्लेटलेट रिच प्लाज्मा
प्लेटलेट रिच प्लाज्मा को वैंपायर फेशियल ( Vampire Facial) भी कहते हैं। यह एक ऐसी विधि है, जिसमें रक्त में मौजूद प्लेटलेट्स का लाभ लेकर त्वचा में नई जान फूंकने के काम किया जाता है। यानी इस विधि में त्वचा कमें कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए प्लाज्मा का उपयोग किया जाता है।
वैंपायर फेशियल से त्वचा की कोशिकाओं के बनने की प्रक्रिया तेज होती है और टिश्यूज की रिपेयरिंग प्रॉसेज में भी तेजी आती है। हांलाकि इस विधि में भी किसी सर्जरी की जरूरत नहीं होती है।

अल्ट्रासाउंड हीटिंग
बिना सर्जरी के स्किन में नई जान फूंकनेवाली सबसे आसान चिकित्सा का नाम है Ultherapy, इसके माध्यम से आपकी त्वचा के अलग-अलग टिश्यूज को अलग-अलग स्तर पर हीटिंग दी जाती है। यह हीटिंग देने के लिए अल्ट्रासाउंड तकनीक का उपयोग किया जाता है।
इस हीटिंग के प्रभाव से त्वचा के अंदर कॉलेजन के उत्पादन की प्रक्रिया तेज होती है। कोलेजन वह प्राकृतिक प्रोटीन होता है, जो त्वचा को जवां और कसा हुआ बनाए रखने का काम करता है। कोलेजन से त्वचा में कसावट और लचीलापन आता है। धीरे-धीरे आपकी त्वचा युवा दिखने लगती है।

पिकोश्योर लेजर
जब त्वचा की कसावट और महीन रेखाओं के लिए जब भी लेजर तकनीक के उपयोग की बात आती है तो आज के समय में PicoSure से बेहतर कुछ नहीं है। यह लेजर ट्रीटमेंट बिना सर्जरी के शानदार परिणाम देता है।
पिकोश्योर से त्वचा की महीन लाइन्स, रोमछिद्र, क्रोजफीट, लाफलाइन्स, महीन निशान और दाग-धब्बे सभी दूर हो जाते हैं। खास बात यह है कि यह स्किन ट्रीटमेंट की यह तकनीक हर तरह की त्वचा पर समान रूप से प्रभावी है और शानदार रिजल्ट्स देती है।

Source : Agency

आपकी राय

7 + 9 =

पाठको की राय