Tuesday, April 13th, 2021
Close X

नई रिसर्च: कोरोना से ठीक होने वाले हर तीसरे व्यक्ति को 6 महीने में हो सकती हैं ये बीमारियां

नई दिल्ली
कोरोना से ठीक होने वाले 2,30,000 से ज्यादा मरीजों पर किए गए एक शोध में यह जानकारी सामने आई है कि हर तीसरे शख्स को 6 महीने के अंदर स्वास्थ्य संबंधी कुछ गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। यह शोध लैंसेट साइकेट्री जर्नल में प्रकाशित हुआ है। इसके मुताबिक इन लोगों को न्यूरोलॉजिकल या मनोरोग से संबंधित स्वास्थ्य की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस शोध में कुल 14 न्यूरोलॉजिकल और मनोरोगों की चर्चा की गई है। शोधकर्ताओं ने कहा है कि इस शोध के आधार पर कोरोना की वजह से होने वाले विकारों के इलाज के लिए भी स्वास्थ्य सुविधाओं को तैयार रखना चाहिए।
 
जबसे कोरोना महामारी शुरू हुई है, इस बात की चिंता रही है कि इससे ठीक होने वालों को न्यूरोलॉजिकल समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसी रिसर्च ग्रुप ने पहले के शोध में पाया था कि लोगों में संक्रमण के बाद के पहले तीन महीने में मूड और चिंता से जुड़ी परेशानियां बढ़ने का खतरा रहता है। लेकिन, अभी तक संक्रमण खत्म होने के 6 महीने तक न्यूरोलॉजिकल या मानसिक बीमारियों के खतरे के बारे में बड़े स्तर पर किसी डेटा की पड़ताल नहीं की गई थी। इस शोध में अमेरिका में 236,379 लोगों के इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ डेटा का विश्लेषण किया गया है, जो कि वहां के ट्रिनेटएक्स नेटवर्क पर उपलब्ध है, जिसपर 8.1 करोड़ से ज्यादा लोग शामिल हैं। इसके नतीजे कोविड के बाद के विकारों के लिए भी पहले से तैयार रहने के नसीहत देते हैं।

Source : Agency

आपकी राय

3 + 5 =

पाठको की राय