Saturday, January 19th, 2019

सर्दियों में रूम हीटर खरीदते वक्त इन जरूरी बातों का रखें ध्यान


पहाड़ी इलाकों में हुई जबरदस्त बर्फबारी का असर उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में देखने को मिल रहा है। दिल्ली-एनसीआर से लेकर यूपी-बिहार, राजस्थान तक बर्फीली ठंडी हवाएं चलनी शुरू हो चुकी हैं। कुल मिलाकर देखें तो सर्दी ने अभी से कहर बरपाना शुर कर दिया है और अगले कुछ दिनों में तापमान में और गिरावट दर्ज होने की उम्मीद है। ऐसे में सर्दी से बचने के लिए सिर्फ गर्म कपड़े पहनना ही काफी नहीं है क्योंकि आपको अपने कमरे को गर्म रखना भी जरूरी है। खासतौर पर सुबह और शाम के वक्त। इसमें आपके काम आ सकता है रूम हीटर। अगर आपके पास भी रूम हीटर नहीं है और आप उसे खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं तो पहले जान लें कि रूम हीटर खरीदते वक्त आपको किन जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा।

रूम हीटर के अहम फीचर्स
- हीटिंग एलिमेंट: आपके रूम हीटर में जितना ज्यादा हीटिंग एलिमेंट होगा उतना बेहतर होगा क्योंकि इससे आपका रूम जल्दी गर्म हो जाएगा।
- वॉट: छोटे हीटर्स की तुलना में बड़े और शक्तिशाली हीटर को चलाने के लिए ज्यादा वॉट की जरूरत होगी। लिहाजा ऐसे प्रॉडक्ट से बचें जिनमें एनर्जी रेटिंग न हो और वे ऊर्जा बचाने का झूठा दावा करते हों।
- टेंपरेचर सेटिंग: ऐसा रूम हीटर न लें जिसमें हीट सेटिंग्स के सिर्फ एक या दो ऑप्शन्स हों। अलग-अलग हीट सेटिंग वाला रूम हीटर देखें जो आपके कमरे के हिसाब से सही हो।
- पावर कट: ऐसा रूम हीटर लेना सही रहेगा जिसमें एक निश्चित तापमान पर पहुंचने पर ऑटो कट फीचर मौजूद हो। इससे आपकी बिजली बचती है और यह सुरक्षित भी होता है।
- लाइट: अगर आप रेडियंट हीटर खरीद रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि इसमें से ज्यादा लाइट न निकलती हो वरना आपकी नींद खराब हो सकती है।
- पोर्टेबल: ध्यान रखें कि आपके हीटर का मॉडल पोर्टेबल हो ताकि आप इसे किसी भी रूम में एक जगह से दूसरी जगह आसानी से ले जा सकें।
- सेफ्टी ग्रिल: अगर आपके घर पर बच्चे या पालतू जानवर हों तो ध्यान रखें कि आपके हीटर में सेफ्टी ग्रिल हो जो हीटिंग एलिमेंट को बाहर से कवर रखता हो ताकि दुर्घटना से बचा जा सके।

मुख्य रूप से 3 तरह के होते हैं हीटर
भारत में बिकने वाले रूम हीटर्स मुख्य रूप से 3 तरह के होते हैं-
1. कन्वेक्शन हीटर्स
इस तरह के हीटर में रूम को गर्म करने के लिए कन्वेक्शन टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें एक कॉइल या पैनल लगा होता है जो हीटिंग में इस्तेमाल होता है। हीट पैनल के आगे पंखा या ब्लोअर लगा होता है जो गर्म हवा को पूरे रूम में फैलाता है।

2. कन्डक्शन हीटर्स
इस तरह के हीटर्स मेटैलिक कॉइल के जरिए गर्माहट को फैलाते हैं जो बिजली के जरिए गर्म होने पर ग्लो करने लगता है। इसमें सबसे पहले आसपास का क्षेत्र गर्म होता है जिसके बाद यह गर्माहट पूरे रूम में फैल जाती है।

3. रेडियंट हीटर्स
इस तरह के रूम हीटर्स इन्फ्रारेड रेडिएशन टेक्नॉलजी पर काम करते हैं। हीट की रेज डायरेक्टली सर्फेज को गर्म करती हैं जहां वे पड़ती हैं जिससे रूम में जरूरी गर्माहट पैदा होती है।

सेफ्टी प्रिकॉशन्स
- रूम हीटर्स को दरवाजे के बिल्कुल पास या आने-जाने वाली जगह के पास न रखें।
- ज्वलनशील पदार्थों से हीटर्स को बिलकुल दूर रखें।
- बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें।
- कपड़े सुखाने के लिए रूम हीटर का इस्तेमाल न करें।
- अपने रूम हीटर को पानी से भी दूर रखें।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

15 + 15 =

पाठको की राय