Saturday, January 19th, 2019

बाथटब में पार्टनर के साथ इन्टिमेट होने से पहले जान लें ये बातें

हर व्यक्ति की कोई न कोई फैंटसी होती है जिनमें में से बाथटब में सेक्स करना भी एक है। मॉडर्न जनेरेशन बॉलिवुड और हॉलिवुड फिल्मों को देखते हुए बड़ी हुई है, जिनमें कई बार ऐसे सीन्स रहे हैं कि दो लोग पानी के बीच एक दूसरे के साथ काफी रोमांटिक पल इंजॉय कर रहे होते हैं, जिसे देखकर उनके दिल में भी बाथटब में सेक्स करने जैसी फैंटसी उभर सकती है। लेकिन क्या बाथटब सेक्स सेफ है, जानें...

क्या यह फिल्मों जितना अच्छा है?
यहां आपको थोड़ी निराशा हो सकती है क्योंकि बहुत सी ऐसी चीजें ऐसी होती हैं जो फिल्मों में तो काफी बेहतरीन लगती हैं लेकिन रियल लाइफ में ऐसा बिल्कुल नहीं होता। उनमें से बाथटब में सेक्स भी एक है। इसके पीछे कई कारण हैं जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं।

UTI का खतरा
अगर आप अपने पार्टनर के साथ पूल या हॉट टब में इन्टिमेट होना चाहते हैं तो आपको ये पता होना चाहिए कि इसमें इन्फेक्शन का बहुत खतरा होता है। खासकर तब जब आपको अक्सर UTI या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन होता रहता है तो पूल या बाथटब के पानी में मौजूद जर्म्स सेक्स के दौरान आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं जिससे आपको खतरनाक इन्फेक्शन हो सकता है।

पानी लुब्रिकेंट नहीं है
पानी भले ही गीला होता है लेकिन ये लुब्रिकेंट नहीं है। बल्कि ये आपकी बॉडी से निकलने वाले नैचरल लुब्रिकेंट को भी धोकर आपको बिलकुल ड्राई कर सकता है। इस तरह पानी में सेक्स करना खतरनाक के साथ -साथ बहुत मुश्किल भी है। इसमें आप असहज महसूस कर सकते हैं और ड्राई भी हो सकते है, जिससे सेक्स करने में समस्या आ सकती है।

वॉटर बॉडीज साफ नहीं होते
वॉटर बॉडीज जैसे पूल और बाथटब में खतरनाक जर्म्स और बैक्टीरिया होते हैं। जब आप ऐसी वॉटर बॉडीज में अपने पार्टनर के साथ इन्टिमेट होते हैं तो ऐसी स्थिति में काफी चान्स होता है कि जर्म्स और बैक्टीरिया आपके वजाइना में चले जाएं।

ये काफी दर्दनाक हो सकता है
पानी में कुछ सेक्सुअल ऐक्टिविटी जैसे अपने हाथों को एक दूसरे के लिए इस्तेमाल करना सेफ हो सकता है। लेकिन पेनिट्रेशन के समय lubricant की कमी के कारण आपको काफी सावधानी बरतनी चाहिए । इसमें बहुत अधिक दर्द हो सकता है।

कॉन्डम नहीं करेगा काम
पानी में मौजूद केमिकल और काफी ज्यादा गर्म और ठंडे पानी की वजह से कॉन्डम में छेद हो सकता है या उसका असर कम हो सकता है। इससे आपके प्रेग्नेन्ट होने का खतरा भी बढ़ सकता है।

वजाइना के लिए नुकसानदेह होता है
लुब्रिकेशन की कमी के कारण और पानी में नैचरल लुब्रिकेशन धुलने के कारण सेक्स के दौरान आपके वजाइना पर काफी दबाव पड़ता है जिससे इसे काफी नुकसान पहुंच सकता है। प्यूब्स के ड्राई होने से फ्रिक्शन ज्यादा होता है। ये वजाइना के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है।

यीस्ट इन्फेक्शन का खतरा भी बढ़ सकता है
हॉट टब और पूल के पानी में मौजूद क्लोरीन आपके वजाइना के PH के स्तर को बिगाड़ सकता है , जिससे आप यीस्ट इन्फेक्शन की चपेट में आ सकती हैं। अगर आपको यीस्ट इन्फेक्शन होता रहता है तो आपको किसी भी हाल में पानी के अंदर सेक्स नहीं करना चाहिए क्योंकि ये आपकी सेहत के लिए काफी खतरनाक हो सकता है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

13 + 6 =

पाठको की राय