Monday, January 21st, 2019

माया बोलीं, 10% जनरल कोटे को पूरा समर्थन

लखनऊ 
केंद्र सरकार के कमजोर सामान्य वर्ग के 10 फीसदी आरक्षण विधेयक का बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने समर्थन देने का फैसला किया है। साथ ही उन्होंने इसे चुनावी छलावा बताते हुए सरकार पर हमला बोला और कहा कि सरकार ने इसे पहले क्यों नहीं लागू किया। मायावती ने इसे बीजेपी का चुनावी स्टंट बताते हुए कहा कि चुनाव आते ही बीजेपी को गरीब सवर्णों की याद आई। 

मायावती ने कहा कि वह इस विधेयक का समर्थन करेंगी क्योंकि उनकी पार्टी पहले से ही आरक्षण की मांग करती आई है। बीएसपी चीफ ने यह भी कहा कि एससी-एसटी वर्ग की 50 फीसदी आरक्षण सीमा को भी उनकी आबादी को देखते हुए बढ़ाने पर विचार किया जाना चाहिए। साथ ही जिन क्षेत्रों में अभी तक आरक्षण की कोई व्यवस्था नहीं है, वहां भी इसे लागू करना चाहिए। 

बता दें कि सोमवार को केंद्र सरकार ने कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों को नौकरियों और शिक्षण संस्थाओं में 10 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया। मोदी कैबिनेट ने 8 लाख से कम आय के वर्ग के लोगों के लिए नौकरियों और शिक्षा में 10 फीसदी आरक्षण की घोषणा की थी। सरकार इस आदेश को मंजूरी दिलाने के लिए आज लोकसभा में संविधान संशोधन विधेयक ला सकती है। 

राज्यसभा का सत्र एक दिन के बढ़ा 
सूत्रों के मुताबिक आरक्षण का कोटा मौजूदा 49.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 59.5 प्रतिशत किया जाएगा। इसमें से 10 फीसदी कोटा आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए होगा। बता दें कि लंबे समय से आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग के लिए आरक्षण की मांग की जा रही थी। इसके अलावा राज्यसभा का सत्र भी एक दिन यानी 9 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया गया है। 

बीजेपी-कांग्रेस ने जारी किया विप 
ऐसे में माना यह जा रहा है कि लोकसभा से बिल को मंजूरी मिलने के बाद इसे बुधवार को उच्च सदन में भी पेश किया जा सकता है। ऐसे में आने वाले दो दिन राजनीतिक गहमागहमी वाले साबित हो सकते हैं। इस बाबत बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को मौजूद रहने के लिए विप जारी किया है। यही नहीं विपक्षी दल कांग्रेस ने भी सांसदों से मौजूदगी के लिए कहा है। 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

12 + 11 =

पाठको की राय