Saturday, March 23rd, 2019

लोकसभा चुनाव की तैयारी, कांग्रेस की मीटिंग आज

नई दिल्ली
देश में आर्थिक आधार पर 10 फीसदी रिजर्वेशन की बात कर जहां मोदी सरकार ने आगामी आम चुनाव के मद्देनजर अपना मास्टर स्ट्रोक मारा है, वहीं प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस भी आम चुनाव की तैयारियों में जुट चुका है। इसी के मद्देनजर संसद सत्र खत्म होने के अगले दिन ही कांग्रेस ने सभी प्रदेश राज्यों के साथ आज गुरुवार को एक अहम मीटिंग करने का फैसला किया है। बता दें कि पहले यह मीटिंग 9 जनवरी (बुधवार) को होनी थी, लेकिन राज्यसभा का एक दिन बढ़ने से इस मीटिंग को एक दिन आगे बढ़ाकर 10 जनवरी (गुरुवार) के लिए कर दिया गया। 


सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस नेतृत्व ने आगामी चुनाव के मद्देनजर अपनी सभी प्रदेश इकाइयों के साथ मिलने का फैसला किया है। इसके मद्देनजर गुरुवार को होने वाली मीटिंग में पार्टी का कोर ग्रुप यह मीटिंग लेगा। उल्लेखनीय है कि आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर गत अगस्त में ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री ए के एंटनी की अध्यक्षता में 9 सदस्यी कोर ग्रुप कमिटि बनाई थी। जिसमें एंटनी के अलावा, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, अशोक गहलौत, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, जयराम रमेश के अलावा, पार्टी के खजांची अहमद पटेल, मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला व पार्टी के महासचिव के सी वेणुगोपाल शामिल हैं। 

कोर ग्रुप सभी प्रदेश अध्यक्षों, प्रभारी और महासचिवों के साथ यह मीटिंग करेगा, जिसमें लोकसभा चुनाव की तैयारियों की दशा और दिशा तय की जाएगी। बताया जाता है कि मीटिंग में सभी राज्यों के अध्यक्षों व प्रभारियों से उनके राज्य में संभावित गठबंधन, उसके बारे में उनकी राय, सीटों के तालमेल और चुनाव को लेकर संगठन की तैयारी व जमीन पर उसकी मौजूदगी पर फीडबैक लिया जाएगा। इसके अलावा, मीटिंग में भविष्य के लिए एक रोड मैप और कार्ययोजना पर भी चर्चा होगी। इसमें लीडरशिप राज्यों के साथ उन अहम मुद्दों पर चर्चा हो सकती है, जिसे आगामी चुनाव में उठाया जा सकता है। कहा जा रहा है कि यह मीटिंग दिन भर चलेगी। 

इतना ही नहीं, इसके अलावा एक और मीटिंग होगी, जिसमें अहमद पटेल सभी प्रभारियों और प्रदेशाध्यक्षों के साथ जनसंपर्क को लेकर अलग मीटिंग करेंगे। इसमें जनसंपर्क अभियान के क्षेत्रीय प्रभारी भी शामिल रहेंगे। बताया जाता है कि मीटिंग में जन संपर्क अभियान की रूप रेखा पर चर्चा होगी कि कैसे इस अभियान को आगे चलाना है, बूथ पर वर्कर तैयार करना है, कैसे बूथ को मजबूत बनाना है। 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

11 + 12 =

पाठको की राय