Saturday, January 19th, 2019

बिना किसी का हक मारे दिया आरक्षण: PM

आगरा 
बुधवार को यूपी के आगरा जिले के एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी ने करीब साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। आगरा के इस कार्यक्रम में शामिल होने के बाद पीएम ने यहां एक विशाल जनसभा को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने यूपी में महागठबंधन और कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर जमकर निशाना साधा। इसके अलावा सामान्य आरक्षण को लेकर पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार ने एक ऐतिहासिक बिल पास किया है और पहली बार बिना किसी के अधिकारों में कटौती किए सवर्ण वर्ग के गरीबों को उनका हक दिया गया है। 


सभा में सामान्य आरक्षण के मुद्दे पर बात करते हुए पीएम ने कहा कि देश का कोई वर्ग, कोई क्षेत्र अवसरों से वंचित ना रहे इसके केंद्र सरकार के स्तर पर प्रयास हो रहे हैं। इसी क्रम में कल पूरे देश ने यह देखा है कि किस तरह लोकसभा में एक ऐतिहासिक बिल पास हुआ है। आजादी के इतने साल बाद गरीबी के कारण बनी समस्या के सामाधान का किया गया है। सामान्य वर्ग के गरीबों को शैक्षणिक संस्था और सरकारी नौकरी में आरक्षण मिले इसके लिए व्यवस्था की गई है। पीएम ने कहा कि आरक्षण को लेकर पहले भी नारेबाजी हुई और घोषणाएं भी हुईं, उस समय मैंने कहा था कि 50 फीसदी के बाहर आरक्षण देने का वादा करने वाले तो वह सभी बेइमानी करते हैं, क्योंकि 50 फीसदी के बाहर आरक्षण देना है तो संविधान संशोधन के बिना यह संभव नहीं है। 

'सीएम कहते कही बात को पीएम बनने पर पूरा किया' 
प्रधानमंत्री ने कहा, जो बात मैंने सीएम रहते कही थी, वह पीएम बनकर पालन किया और किसी के हक को काटे बिना मैंने गरीब और उच्च जातियों के सवर्ण बच्चों की चिंता करने का काम किया है। कुछ लोगों का कहना है कि मोदी जी ने चुनाव देखकर यह फैसला किया है, लेकिन यह आप भी जानते हैं कि देश में ऐसे कोई 6 महीनें नहीं जाते हैं जब कहीं ना कही चुनाव ना होता हो। अगर मैं ये बिल तीन महीने पहले लाता तो कहते कि मैंने एमपी और राजस्थान चुनाव के लिए इसे लॉन्च किया है, उसके दो महीने पहले लाता तो कहते कर्नाटक के लिए ऐसा कर रहा हूं। ऐसे में यह आरोप ना लगे इसके लिए मैंने कई बार लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ कराने की वकालत की है। 

महागठबंधन पर खनन घोटाले को लेकर निशाना 
वहीं सभा के दौरान पीएम मोदी ने यूपी में प्रस्तावित महागठबंधन को लेकर भी एसपी और बीएसपी पर निशाना साधा। अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि जो एक दूसरे का मुंह देखने को तैयार नहीं थे, वो चौकीदार को दूर से देखकर ही घबरा जाते हैं। पीएम ने कहा, 'उनको लगता है कि हमारा जो होगा वो हिसाब बाद में देख लेंगे, लेकिन पहले इस चौकीदार को सत्ता से हटाओ।' वहीं खनन घोटाले को लेकर जारी जांच के बहाने महागठबंधन पर कटाक्ष करते हुए पीएम ने कहा, 'जो लोग बालू और मोरंग लेकर शोषित लोगों का हक खा गए, उन लोगों ने एक दूसरे के घोटाले छिपाने के लिए हाथ मिलाना शुरू किया है। राजनीतिक स्वार्थ के लिए इन लोगों ने लखनऊ का वो गेस्ट हाउस कांड भुला दिया है और यह सब सिर्फ इसलिए हो रहा है क्योंकि चौकीदार इनके सामने पूरी ईमानदारी से खड़ा है।' पीएम ने कहा कि यह लोग देश के चौकीदार को हटाने के लिए हर तिनके को जोड़ रहे हैं। इसके अलावा जब जांच एजेंसियां इनसे पापों का हिसाब मांग रही हैं, तो वह इसपर चौकीदार के खिलाफ ही षड़यंत्र रच रहे हैं। 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

9 + 8 =

पाठको की राय