Saturday, January 19th, 2019

डाक्टर और नर्स के खिलाफ प्रकरण दर्ज

इंदौर
मध्यप्रदेश के इंदौर की एमआईजी थाना पुलिस ने एक प्रतिष्ठित निजी अस्पताल में उपचार के दौरान एक मरीज की मौत हो जाने के मामले में लगभग 54 महीने बाद एक डाक्टर और नर्स के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज किया हैं। आधिकारिक जानकारी के खरगोन निवासी आदित्य जोशी को 29 मई 2014 को इंदौर के सीएचएल हॉस्पिटल में उपचार हेतु भर्ती किया था। इलाज के दौरान आदित्य को चढ़ायी जा रही बोतल के माध्यम से एक इंजेक्शन दिया गया। जिसके बाद आदित्य की मौत हो गयी थी। पुलिस ने आदित्य के परिजनों की शिकायत पर मर्ग कायम कर लिया था। मामला चिकित्सा से जुड़ा होने के कारण पुलिस ने मामले की जांच शासकीय महाराजा यशवंत राव चिकित्सालय, इंदौर के डॉक्टरो की एक समिति को सौंप दी थी। डॉक्टरों की समिति ने माना की आदित्य को बोतल के माध्यम से दिया गया इंजेक्शन उसे अंर्त जनक (इंटर मस्क्युलर) तरीके से दिया जाना था। इसी वजह से उसकी मौत हो गयी। पुलिस ने मामले में लगभग 54 माह जाँच करने के बाद डॉ नीता गांगुली और नर्स मेरी के विरुद्ध कल गुरुवार रात प्रकरण दर्ज किया है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

11 + 8 =

पाठको की राय