Friday, March 22nd, 2019

गठबंधन पर मोदी का तंज, सब एक शख्स को रोकने के लिए

नई दिल्ली 
दिल्ली के रामलीला मैदान में बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे और आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर जमकर बरसे। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो कांग्रेस ने 12 सालों तक उन्हें परेशान किया, लेकिन उन्हें कानून पर और संस्थाओं पर भरोसा था। मोदी ने कांग्रेस पर देश की संवैधानिक संस्थाओं के अपमान का आरोप लगाया। बीजेपी कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए जी-जान से जुटने का आह्वान करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह लड़ाई सल्तनत और संविधान में आस्था रखने वालों के बीच की है। एक तरफ वे हैं जो किसी भी तरह अपनी सल्तनत बचाने की जुगत में हैं और एक तरफ हम हैं जो संविधान के लिए लड़ते हैं। पीएम मोदी ने महागठबंधन को लेकर भी विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के विरोध में खड़ी हुई और एक-दूसरे का विरोध करने वाली पार्टियां आज एक व्यक्ति को हराने के लिए साथ आ रही हैं।  


'विकास के हर काम में बाधा पहुंचाती है कांग्रेस' 
प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की मानसिकता विकास के हर काम में बाधा पहुंचाने की है। उन्होंने कहा, 'मेक इन इंडिया की बात हुई, जीएसटी की बात हुई, स्वच्छ भारत की बात हुई तो कांग्रेस विरोध करती है। कांग्रेस अपनी बैठकों में तो जीएसटी का समर्थन करती है लेकिन इसके लिए मध्य रात्रि को बुलाए गए संसद सत्र का बहिष्कार करती है।'

'खुद को कानून और संस्थाओं से ऊपर समझती है कांग्रेस' 
प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वह खुद को देश की हर संस्था से ऊपर समझते हैं। पीएम ने कहा, 'इन्हें कानून और संस्थाओं की भी परवाह नहीं। इन्होंने खुद को हमेशा देश की सर्वोच्च संस्थाओं से ऊपर माना है। उनकी परवाह नहीं करते- चाहे चुनाव आयोग हो, आरबीआई हो, जांच एजेंसियां हो या सुप्रीम कोर्ट हो।' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस अपने वकीलों के माध्यम से न्याय प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। सीजेआई को हटाने के लिए महाभियोग लाने की भी कोशिश की थी। कांग्रेस अयोध्या मामले का समाधान नहीं चाहती।' 

'काले कारनामे वालों की नींद हराम' 
कांग्रेस और विपक्ष पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'ये वही लोग हैं जो देश के टुकड़े-टुकड़े करने वाले गैंग के साथ हैं। सर्जिकल स्ट्राइक को खून की दलाली कहने वाले यही लोग हैं। ये लोग संस्थाओं से किस तरह बर्ताव करते हैं, इसे एक उदाहरण से समझ सकते हैं।' इसके बाद पीएम ने कुछ राज्यों में सीबीआई को प्रतिबंधित करने को लेकर विपक्ष पर हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा, 'आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल ने सीबीआई पर प्रतिबंध लगा दिया है। इनको डर किस बात का लग रहा है। ऐसा क्या कारनामे किए कि उनकी नींद हराम हो गई है।' 

'जब मुख्यमंत्री था तो इन्होंने मुझे 12 सालों तक सताया' 
नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र की यूपीए सरकार के दौरान एक भी एजेंसी ऐसी नहीं थी, जिसने मुझे न सताया हो। उन्होंने कहा, 'मैं जब गुजरात का मुख्यमंत्री था तो 12 साल तक कांग्रेस और उसके रिमोट पर चलने वाले अफसरों और नेताओं ने हर तरह से मुझे परेशान करने का काम किया। उनकी एक भी एजेंसी ऐसी नहीं थी जिसने मुझे सताया नहीं। 2007 में तो कांग्रेस के एक बड़े नेता गुजरात आए और चुनाव सभा में दावा किया था कि मोदी कुछ समय में जेल चला जाएगा।' 

'एक ही अजेंडा था- मोदी को फंसाओ, शाह को तो जेल में डाल दिया था' 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'यूपीए सरकार का एक मात्र अजेंडा था कि किसी भी तरह से मोदी को फंसाओ, अमित भाई को तो जेल में भी डाल दिया था। लेकिन हमने कभी ऐसा कोई नियम नहीं बनाया कि सीबीआई राज्य में न घुसे। हमें सत्य और कानून पर विश्वास था। दूसरी तरफ ये लोग हैं जो अपने काले कारनामों के खुलासों से डरे हुए हैं। कम से कम देश की अदालतों पर तो भरोसा रखो। आज सीबीआई स्वीकार नहीं है, कल दूसरी संस्था अस्वीकार होगी। आर्मी, सुप्रीम कोर्ट, सीएजी सब गलत। उनकी सल्तनत के अनुकूल जो भी नहीं होगा उसका वो विरोध करते हैं।' पीएम ने कहा, 'यह लड़ाई सल्तनत और संविधान में आस्था रखने वालों के बीच है। एक तरफ वे लोग हैं जो सल्तनत बचाने के लिए लड़ते हैं एक हम हैं जो संविधान के लिए लड़ते हैं।' 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

4 + 14 =

पाठको की राय