Tuesday, June 25th, 2019

कमलनाथ की मंत्री का आरोप- बीजेपी सरकार में संस्कृति का विकृत रूप नजर आया

भोपाल
सांस्कृतिक विरासत का पोषक होने का दंभ भरने वाली बीजेपी ने क्या सत्ता में रहते हुए संस्कृति को चौपट करने का काम किया. कमलनाथ सरकार में संस्कृति मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ के एक बयान से इस बहस को हवा मिल गई है. राजधानी भोपाल में लिटरेचर एंड आर्ट फेस्टिवल के आगाज के दौरान संस्कृति मंत्री ने पिछली सरकार को कठघरे मे खड़ा करते हुए कहा है कि तब की सरकार में संस्कृति का विकृत रूप नज़र आया और अब की सरकार इस खामी को दूर करने का काम करेगी.

दरअसल, राजधानी भोपाल में लिटरेचर एंड आर्ट फेस्टिवल की शुरुआत हुई तो थी गुंदेचा बंधु के सरस्वति गायन के साथ, लेकिन जब बारी कमलनाथ सरकार की संस्कृति मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ के बोलने की आई तो नया सियासी बखेड़ा खड़ा हो गया. साधौ ने संस्कृति को लेकर पिछली बीजेपी सरकार पर जमकर सवाल खड़े करते हुए कहा कि पिछली सरकार में संस्कृति का विकृत रूप नजर आया लेकिन अब उनकी सरकार इस गलती को सुधारने का काम करेगी.

खास बात ये कि जिस कार्यक्रम के दौरान साधौ संस्कृति को लेकर बीजेपी सरकार को कठघरे में खड़ा कर रही थीं उस कार्यक्रम में केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री अल्फोंस जोसेफ कन्नथनम मौजूद थे. साधौ ने जहां पिछली सरकार की खामियां गिनाईं तो वहीं अल्फोंस जोसेफ संस्कृति और पर्यटन को बढ़ाने की दिशा में केंद्र सरकार की ओर से उठाए जा रहे फैसलों को गिनाते रहे.

ऐसा पहली बार नहीं है जब आलोचना की खातिर नेताओं ने अपने से पहले की सरकारों की आलोचनाएं की हों लेकिन संस्कृति को लेकर साधौ के सवाल अब किस मोड़ पर जाकर खत्म होंगे ये आने वाला वक्त ही बताएगा.

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

11 + 7 =

पाठको की राय