Tuesday, April 23rd, 2019

तेजस्वी का बड़ा हमला, कहा- PM मोदी झूठ की फैक्ट्री, BJP-RSS सबसे ज्यादा जातिवादी

पटना        
लोकसभा चुनाव से पहले सियासी बयानबाजी तेज हो रही है. राजनीतिक दल एक-दूसरे पर लगातार हमले बोल रहे हैं. इसी कड़ी में गुरुवार को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर से तीखा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी झूठ की फैक्ट्री हैं. वो जितनी अच्छी तरीके से झूठ बोल लेते हैं, उतने अच्छे से हम सच भी नहीं बोल पाते हैं.

एक कार्यक्रम के दौरान एक सवाल के जवाब में तेजस्वी यादव ने कहा कि अगला चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़ा जाएगा. हम जातिवाद की राजनीति नहीं करते हैं. उन्होंने सवाल किया कि आखिर जातिवाद की व्यवस्था किसने बनाई हैं? दलित पर अत्याचार करने वाले लोग कौन हैं? उन्होंने कहा कि अगर हम दलितों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाते हैं, तो हम जातिवादी नहीं हो जाते हैं.

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि हम लोग जातिवादी नहीं हैं. हम सामाजिक न्याय की बात करते हैं. सबसे बड़े जातिवादी बीजेपी और आरएसएस हैं. उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि आखिर एक ही जाति के लोग ही क्यों आरएसएस प्रमुख बनाए जाते हैं? इस दौरान उन्होंने सवर्ण आरक्षण के दायरे को लेकर भी आपत्ति जताई. उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर 10 फीसदी आरक्षण किस आधार पर दिया गया है? आर्थिक तौर पर दिया गया आरक्षण संविधान के साथ छेड़छाड़ है. जिसके पास 5 एकड़ जमीन हो और जो 60 से 65 हजार रुपये महीने कमाता हो, वो गरीब कैसे हो सकता है? 

इस दौरान आरजेडी नेता ने जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा. बिहार में आरजेडी से गठबंधन तोड़कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ मिलकर सरकार बनाने के सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि पहले हमने सुना था कि नीतीश कुमार के पेट में दांत हैं, लेकिन अब हमने यह देख भी लिया है. इस दौरान तेजस्वी यादव ने लोगों के सवालों के जवाब भी दिए.

इससे पहले बुधवार को भी आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला था. उन्होंने ट्वीट किया था, ‘भारतीय राजनीति में कोई भी नीतीश कुमार के मानकों से मेल नहीं खाता है. वो न सिर्फ राजनीतिक, नैतिक या सामाजिक रूप से निंदनीय हैं, बल्कि नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हैं. आप उन्हें कभी अपनी गलतियों को स्वीकार करते हुए नहीं पाएंगे. वो अपनी गलतियों के लिए साझेदारों के साथ-साथ विरोधियों पर दोष मढ़ते हैं.’

आपको बता दें कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए बिहार समेत कई राज्यों मे सभी विपक्षी दल एकजुट हो गए हैं. 12 जनवरी को उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन का ऐलान किया है. इस ऐलान के बाद तेजस्वी यादव लखनऊ पहुंचे थे और बीएसपी सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की थी. इस बीच, तेजस्वी ने मायावती के पैर छुए थे और उनका आशीर्वाद लिया था. इसके अलावा तेजस्वी यादव ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी.

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

15 + 11 =

पाठको की राय