Wednesday, September 18th, 2019

गुप्‍तांग में जुएं, सेक्‍स और इंफेक्‍शन की वजह से भी पनप सकते है प्‍यूबिक लाइस


जिस तरह गंदगी और इंफेक्‍शन जैसी वजहों से बालों में लाइस यानी जूं की समस्‍या हो जाती है। ठीक उसी तरह गंदगी और कई कारणों के वजह से गुप्तांग या जननांगों के बालों (प्‍यूबिक हेयर) में पड़ने वाले जूं को प्यूबिक लाइस के नाम से जाना जाता है।

प्यूबिक लाइस को 'क्रैब्स' के नाम से भी जाना जाता है। ये छोटे परजीवी होते हैं जो आपकी चमड़ी से खून चूसते हैं। इंसानों के जननांगो के आस पास वाले हिस्से में पाए जाने वाले ये जुएं, कुछ लोगों में उनके बगलों और भौहों में भी पाए जाते हैं। इनका आकार सिर में पाये जाने वाले जूं के आकर से काफी अलग होता है। एक शोध के अनुसार पूरी दुनिया में लगभग 10% लोग इसके शिकार हैं।

जननांगो में जूं के कारण
यह एक यौन संक्रमित बीमारी है और ये अधिकतर टीनएर्जस में अधिक पाई जाती है। अगर आपका पार्टनर इस समस्‍या से पीड़‍ित है तो उससे यौन संपर्क बनाने आप के जननांगो में भी इस जूं के फैलने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। संक्रमित लोगों के कपड़ों के भी संपर्क में आने से भी प्‍यूबिक हेयर की समस्‍या बढ़ जाती है।

कंडोम भी नहीं सुरक्षित
इंटरकोर्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करने से प्यूबिक लाइस के संक्रमण से सुरक्षा नहीं मिलती है। बल्कि इस दौरान जननांगों में रगड़ के कारण जूं दूसरे व्यक्ति के जननांगों के बालों में रेंगकर पहुंच जाते हैं।

लक्षण :
जननांगो के आस पास बाल वाले हिस्से में तेज खुजली और ये खुजली रात में और ज्यादा बढ़ जाती है। अगर आपने सही समय पर इसका इलाज नहीं करवाया तो ये काफी बड़े हो जाते हैं जिन्हें आप लेंस की मदद से देख सकते हैं।

अंडरवियर चैक करें
प्‍यूबिक एरिया के ज‍िस स्‍थान पर आपको ज्‍यादा खुजली हो रही है, वहां लाल निशान, दिखने लगते है। इसके अलावा आपके अंर्तवस्‍त्र पर अगर भूरे निशान (जूओं के मल) का दिखना। इसके अलावा प्‍यूबिक हेयर के बीच छोटे सफेद बिंदु (जूओं के अंडे) होना भी इनके लक्षण हैं।

घाव होना
जननांगों के आसपास खुजली के कारण घाव होना। बार बार खुजली करने और जूं के काटने के कारण वो हिस्सा नीले और ग्रे रंग का हो जाता है।

दाढ़ी और मूंछों पर
वैसे तो ये जूं कभी भी आपके सिर के बालों में नहीं जाते हैं लेकिन ये शरीर के अन्य हिस्सों जैसे कि बगलों, दाढ़ी और मूंछों में आसानी से फ़ैल जाते हैं।


दूरी बनाएं
कोई व्यक्ति प्यूबिक लाइस से संक्रमित है तो उससे चिपककर ना बैठें और ना ही उसके साथ शारीरिक संबंध बनाएं। प्यूबिक लाइस को जिंदा रहने के लिए खून की आवश्यकता पड़ती है इसलिए इसके ग्रसित व्यक्ति के आसपास बिल्कुल भी न जाएं।

गर्म पानी में धोएं
सभी कपड़ो और बिस्तरों को 60 डिग्री या अधिक तापमान के गर्म पानी में धोएं। यदि आप अपने कपड़ों को धो नहीं सकते हैं तो उनकी ड्राई क्लीनिंग कराएं या प्लास्टिक बैग में 72 घंटे तक सीलबंद कर दें। ऐसा ही अपने गद्दों और तकियों के साथ भी करें। वरना आप फिर से जूओं से संक्रमित हो सकते हैं।

 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

8 + 14 =

पाठको की राय