Monday, August 26th, 2019

एसपी के केबिन के लिए तोड़ा थाना, अब भी पड़ा उजाड़

इंदौर
पश्चिम एसपी का ऑफिस बनाने के लिए महू नाका के पास नए बने ट्रैफिक थाने में काफी तोडफ़ोड़ की गई। एसपी का तो तबादला हो गया तो इसकी फिर किसी ने थाने की मरम्मत नहीं कराई। थाने के बाथरूम तोड़ दिए जाने से महिलाकर्मी परेशान है। 
ट्रैफिक पुलिस के लिए महू नाका के पास पश्चिम ट्रैफिक थाना बनाया गया। इस थाने में पुलिस ने काम भी शुरू कर लिया। बाद में इसमें एसपी पश्चिम सि²ार्थ बहुगुणा ने अपना ऑफिस बनाने के लिए बिना किसी अफसर से अनुमति लिए तल व पहली मंजिल पर तोडफ़ोड़ करवा दी। दोनो मंजिल पर बने महिला व पुरूष बाथरूम को तोड़ दिया गया। नए बने थाने में तोडफ़ोड़ के चलते पूरा सामान अस्त व्यस्त हो गया। पत्रिका ने जब मामले का प्रमुखता से प्रकाशित किया तो अफसरों को इसकी जानकारी लगी। बतातें है कि सीनियर अधिकारियों ने नए बने थाने में इस तरह से तोडफ़ोड़ करने पर नाराजगी भी जताई। जिम्मेदार ट्रैफिक अधिकारियों से जबाव भी मांगा लेकिन एसपी के आदेश का हवाला देते हुए उन्होंने पल्ला झाड़ लिया। इसी बीच एसपी का तबादला हो गया। वे तो रिलीव होकर चले गए लेकिन नए थाने की मरम्मत करवाना उन्हें जरुरी नहीं समझा। करीब पांच महीने बीच जाने के बाद भी इसी स्थिति में थाना है। दोनो मंजिल पर हुई तोडफ़ोड़ साफ नजर आती है। यहां पर मलबा भी अभी पड़ा है। पहली मंजिल पर कमरे को बढ़ाने के लिए छत पर भरी गई थी। थाने में हुई तोडफ़ोड़ से ट्रैफिक थाने के स्टॉफ का काम भी प्रभावित हो रहा है। थाने के लिए आया फर्नीचर भी इस्तेमाल में नहीं आ रहा। जिम्मेदारो को इसके लिए सुध लेकर टूट फूट की मरम्मत कराने की जरुरत है।


महिलाकर्मी है परेशान

थाने की तल व पहली मंजिल पर महिला व पुरूष बाथरूम था। इसको भी तोड़ा गया। बाथरूम से निकला सामान भी कबाड़ की तरह पड़ा है। अब हालत यह है कि थाने में पदस्थ महिला कर्मचारियों को काफी परेशानी हो रही है। वही तय नहीं हो रहा कि अब इस टूट फूट की मरम्मत कैसे और कौन कराएगा। सीनियर अधिकारी के निर्देश पर तोड़ फोड़ होने के चलते उनसे किसी ने सवाल जबाव करना भी जरुरी नहीं समझा।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

15 + 3 =

पाठको की राय