Friday, March 22nd, 2019

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर से कुछ लोगों को मिलती है खुशी

हममें से अधिकतर लोग मानते हैं कि किसी रिलेशनशिप में बेवफाई की कोई जगह नहीं होती। दो लोगों के बीच में किसी तीसरे की गुंजाइश होनी ही नहीं चाहिए। पर हाल ही में हुई एक स्‍टडी की मानें तो कुछ ऐसे कपल्‍स भी हैं जो एक्‍सट्रा मैरिटल अफेयर्स या विवाहेतर संबंधों को अपनी खुशी की वजह मानते हैं। अमेरिका की मिसौरी स्‍टेट यूनिवर्सिटी की डॉ. एलीसिया वॉकर ने एश्‍ले मेडिसन नामकी एक डेटिंग साइट के एक हजार से ज्‍यादा यूजर्स के बीच एक सर्वे किया। यह डेटिंग साइट भी अनोखी है जो केवल विवाहित जोड़ों या रिलेशनशिप में रह रहे कपल्‍स के लिए डेटिंग सुविधा उपलब्‍ध कराती है। बहरहाल, डॉ. वॉकर ने सर्वे में शामिल लोगों से पूछा कि अपनी गृहस्‍थी से बाहर किसी से संबंध बनाने के बाद 'जीवन की संतुष्टि' पर क्‍या असर पड़ा।

महिलाएं थी ज्‍यादा खुश
हैरानी की बात है 10 में से सात लोगों ने कहा कि विवाहेतर संबंध करनके बाद वे अपनी शादीशुदा जिंदगी से ज्‍यादा संतुष्‍ट हैं। आंकड़ों के मुताबिक, पुरुषों से ज्‍यादा महिलाएं अपने विवाहेतर संबंधों की वजह से ज्‍यादा खुश थीं। इस संतुष्टि को प्रभावित करने वाले बहुत से कारक थे जैसे, अपनी गृहस्‍थी में पार्टनर से यौन संतुष्टि न मिल पाना लेकिन बाहर वाले पार्टनर से यह खुशी मिली, इस आउट साइड पार्टनर के साथ हफ्ते में कम से कम दो बार यौन संबंध बनाना वगैरह।

अफेयर खत्‍म होने के बाद और खुशी
जब यह विवाहेतर संबंध खत्‍म हो जाते हैं तब क्‍या अपने पार्टनर को धोखा देने वाले को पछतावा होता है? इस सवाल का जवाब भी हैरान करने वाला था। शोध में शामिल लोगों ने कहा कि विवाहेतर संबंध खत्‍म होने पर तो जीवन में पहले से भी ज्‍यादा संतुष्टि का अनुभव होता है।

बेवफाई में संतोष
केवल इसी रिसर्च में बेवफाई और खुशी के संबंध को नहीं जोड़ा गया है। PubMed नामके एक जर्नल में इसी तरह की एक रिसर्च छपी थी जिसमें कहा गया था कि जो लोग अपनी शादी के बाहर किसी से अफेयर करते हैं लेकिन इसकी जानकारी अपने पार्टनर को नहीं देते वे ज्‍यादा खुश रहते हैं।

तब क्‍या धोखा देना चाहिए?
यह सही है कि इन रिसर्च के नतीजे बताते हैं कि जिन लोगों ने अपनी गृहस्‍थी के बाहर संबंध बनाए वे खुश नजर आते हैं लेकिन अपनी शादीशुदा जिंदगी की समस्‍याओं से निपटने का यह सही समाधान नहीं है। अपने पार्टनर को धोखा देकर मिलने वाली खुशी अस्‍थायी होती है। आपसी समस्‍याओं और ग‍तिरोध पर बातचीत करके ही आप अपनी शादीशुदा जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

10 + 9 =

पाठको की राय