Thursday, May 23rd, 2019

 न्यूजीलैंड मस्जिद फायरिंग में 49 की मौत, एक भारतीय भी घायल

 
क्राइस्टचर्च (न्यूजीलैंड)   
    
न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिद में 50 राउंड फायरिंग की गई. इस फायरिंग में करीब दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत की खबर है. मस्जिद में बांग्लादेश क्रिकेट टीम नमाज अदा करने आई थी. फायरिंग के दौरान पूरी टीम ने पार्क के रास्ते भागकर जान बचाई. न्यूजीलैंड में मस्जिदों के दरवाजे बंद रखने का हुक्म दिया गया है. चार लोगों को हिरासत में लिया गया है.
सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि न्यूजीलैंड में हुई गोलीबारी में अहमद जहांगीर नाम का एक शख्स भी जख्मी हुआ है और उनके भाई इकबाल जहांगीर हैदराबाद के निवासी हैं. ओवैसी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और तेलंगाना सरकार से अपील की है कि इकबाल की न्यूजीलैंड जाने में मदद करें.
 न्यूजीलैंड के कमिश्नर माइक बुश ने कहा कि मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हो गई है. कई घायलों की हालत गंभीर है. डीन एवेन्यू मस्जिद में 41 लोग मारे गए और लिनवुड मस्जिद में सात की मौत हो गई. उन्होंने कहा कि क्राइस्टचर्च अस्पताल में भर्ती 40 लोगों में से एक की मौत हो गई है.

बांग्लादेश की क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड के दौरे पर है. बांग्लादेश की क्रिकेट टीम को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है, लेकिन इस घटना के बाद से टीम जल्द से जल्द न्यूजीलैंड छोड़ देना चाहती है. बांग्लादेशी की क्रिकेट क्राइस्टचर्च में ही थी और कल न्यूजीलैंड से टेस्ट मैच था. बांग्लादेश के खिलाड़ी नमाज के लिए मस्जिद पहुंचे थे, लेकिन उसी दौरान वहां एक बंदूकधारी ने अचानक गोली चलानी शुरू कर दी. हालांकि इस घटना में किसी खिलाड़ी को चोट नहीं आई है और सभी सुरक्षित हैं. घटनास्थल पर मौजूद Cricinfo के बांग्लादेशी पत्रकार मोहम्मद इसाम ने बताया कि सभी खिलाड़ी सुरक्षित हैं. लेकिन सभी लोग वापस बांग्लादेश लौट जाना चाहते हैं.
 
बहरहाल चश्मीदों का कहना है कि शूटर की गोली से बचने के लिए लोग वहां से किसी तरह भाग रहे थे. मोहन इब्राहिम नाम के एक व्यक्ति ने बाताया, 'पहले हमें लगा कि कोई शॉर्ट सर्किट हुआ है, लेकिन देखा सभी लोग भाग रहे हैं. मैं अपने दोस्तों के साथ अंदर ही था. मैं अपने दोस्तों को आवाज दे रहा था, लेकिन कोई आवाज सुनाई ही नहीं दे रही थी. मैं अपने दोस्तों को लेकर चिंतित हूं.'

गौरतलब है कि अल नूर मस्जिद क्राइस्टचर्च शहर के बीच में स्थित है. चश्मदीदों का कहना है कि उन्होंने वहां कुछ लोगों को देखा है लेकिन वे इस बात की पुष्टि नहीं कर पा रहे हैं कि वे पुलिस वाले थे या कोई और.

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

2 + 6 =

पाठको की राय