Monday, July 22nd, 2019

नवीन कालेज लाइब्रेरियन दुबे छात्राओं पर भाजपा को वोट देने का बना रहे दवाब

भोपाल।  

राजधानी के नवीन कालेज में वर्तमान में दो लाइब्रेरियन पदस्थ हैं। इनमें से एक लाइबे्ररियन प्रियदर्शी दुबे विद्यार्थियों के मोबाइल पर फोन लगाकर उन्हें भारतीय जनता पार्टी को वोट देने का दवाब बना रहे हैं। लाइब्रेरियन दुबे की शिकायत शिवसेना द्वारा मुख्य सचिव सुधि रंजन मोहंती, राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य अनिर्वाचन अधिकारी बीएल कांताराव, कलेक्टर सुदाम खाडे सहित अन्य स्थानों पर की गई है। मांग के दौरान लाईब्रेरियन दुबे को भोपाल की सीमा से बाहर कर दूसरे कालेज में पदस्थ करने की मांग की गई है। 

उच्च शिक्षा विभाग ने ग्वालियर के महारानी लक्ष्मीबाई कालेज में छात्राओं से अश्लील बातें करने के आरोप लाइबे्ररियन दुबे को भिंड के गोहद कालेज में पदस्थ किया गया था। जहां से भाजपा सरकार में अपने करीबियों के हस्तक्षेप के बाद भोपाल के नवीन कालेज में पदस्थपना ले चुके हैं। यहां भी वे अपनी हरकतों से बाज नहीं आए हैं। उन्होंने छात्र और छात्राओं के मोबाइल नंबर पर फोन लगाकर परेशान करना शुरू कर दिया है। अब उन्होंने छात्राओं से नये तरीके से बात करना शुरू किया है। वे छात्राओं से अपनी बात कहने के बहाने भाजपा को वोट देने का बात करने लगते हैं। यहां तक वे छात्राओं को भाजपा के पक्ष में वोटिंग करने के लिए दवाब तक बनाते हैं। इसका खास कारण उनका आरएसएस से जुड़ा होना बताया गया है। कुछ छात्राओं ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि लाइब्रेयिन उन्हें भाजपा को वोट डालने के लिए कैसे दवाब बनाते हैं। वे जिस तरह से दवाब बनाने की कोशिश करते हैं छात्राएं उन्हें बयां तक नहीं कर पा रही हैं। इसके चलते शिवसेना के विपिन तिवारी ने छात्राओं के साथ मिलकर सीएस मोहंती, मुख्य चुनाव आयुक्त कांताराव और कलेक्टर खाड़े से शिकायत दर्ज कराई है। तिवारी का कहना है लाइब्रेरियन दुबे द्वारा किया जाने वाला कृत्य गलत है। भोपाल के चुनाव में निष्पक्ष मतदान कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग को उन्हें भोपाल के बाहर के कालेज में पदस्थ करना चाहिए। आचार संहित के उल्लंघन में उनकी जांच कराकर कर उच्च शिक्षा विभाग को भोपाल के बाहर दूसरे कालेज में निलंबित कर पदस्थ करना चाहिए। 

जटिया ने कराई थी जांच 

विभाग ने उन्हें 2017 में नवीन कालेज भेजा था। एक साल तक वे एमएलबी कालेज के नये लाइब्रेरियन को लाइब्रेरी का चार्ज नहीं दे पाए थे। वे नवीन कालेज में पहुुचने के बाद लाइब्रेरी का चार्ज देने तक को तैयार नहीं थी। इसके बाद तत्कालीन अपर सचिव रहे जगदीश चंद्र जटिया ने लाइब्रेरियन दुबे को चार्ज करने के लिए आदेशित किया था। तब एक साल की समय अवधि में अपरा चार्ज नये पदस्थ लाइब्रेरियन को दे पाए हैं। हालांकि उनके कार्यकाल में गुम हुई किताबों की सूची बनाई जा रही है। अभी तक करीब पचास हजार रुपएकी किताबें गुम होने की सूची बन चुकी है। ये सूची और आगे बढ़ेगी। किताबें गुम होने की दशा में विभाग उनसे वसूली तक करेगा। 

दो दो लाइब्रेरियन 

नवीन कालेज में वर्तमान में दो दो लाइब्रेरियन को पदस्थ किया गया है। सीनियर लाइब्रेरियन के तौर पर रामसेवक भट्ट और जूनियर के तौर पर प्रियदर्शी दुबे हैं। दुबे को कालेज प्राचार्य राजीव चौबे ने कोई कार्य और जिम्मेदारी नहीं सौंपी है। भोपाल में पदस्थ होने के बाद विभाग उनका वेतन भोपाल से 500 किमी दूर गोहद कालेज के रिक्त लाइब्रेरियन के पद से वेतन निकालकर उनके खाते में जमा कर रहा है। विभाग बिना कोई कार्य किए उन्हें ये वेतन अदा कर रह है। जबकि भोपाल में ही हमीदिया कालेज में कोई लाब्रेरियन तक पदस्थ नहीं किया गया है। 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

3 + 2 =

पाठको की राय